GEEDA factories were stopped till late night in Gorakhpur - बिजली कटौती से गीडा के 400 फैक्ट‌्रियों में काम-काज देररात तक ठप रहा DA Image
17 नबम्बर, 2019|10:42|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली कटौती से गीडा के 400 फैक्ट‌्रियों में काम-काज देररात तक ठप रहा

बिजली अफसरों की लापरवाही की सजा गुरुवार को गीडा क्षेत्र के 400 उद्यमियों को भुगतना पड़ा। बरहुआ गीडा लाइन की मरम्मत के लिए अफसरों ने सुबह 6 से 11 बजे तक बिजली कटौती की घोषणा की। निर्धारित समय पर काम पूरा नहीं होने के कारण  दोपहर 3 बजे तक जीरो प्वाइंट पर केबल बिछाया गया। केबल की गुणवत्ता खराब होने के कारण आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी। बिजली के इंतजार में 400 फैक्ट्रियों में काम-काज ठप रहा। इसको लेकर उद्यमियों में आक्रोश व्याप्त है। उनका कहना है कि बिजली निगम के अधिकारियों की लापरवाही पूर्ण कार्यशैली से आए दिन इस तरह की दिक्कत हो रही है।

उद्यमियों ने बताया कि देरशाम को बिजली निगम के अभियंताओं ने बताया कि पुरानी स्थिति बहाल करने में अभी और वक्त लगेगा। पूरी रात काम करवा कर शुक्रवार की सुबह तक आपूर्ति को सामान्य कर देंगे। गीड़ा के उद्यमी व  चैंबर ऑफ ट्रेडर्स के उपाध्यक्ष डॉ आरएन सिंह ने बताया कि निगम की इस लापरवाही से व्यापार पर बहुत प्रभाव पड़ा है। पूरे दिन फैक्ट्री की मशीन नहीं चल सकी। इससे गीडा के सभी उद्यमियों का उत्पादन ठप रहा। उन्होंने निगम के उच्चाधिकारियों से लापरवाही करने वाले अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने को कहा। 

साथ ही नुकसान की जिम्मेदारी भी तय करने की मांग की। उद्यमी प्रवीन मोदी ने बताया कि फैक्ट्रियो में  तीन शिफ्ट सुबह 6 से 2 बजे तक ,दोपहर 2 से 10 एवं रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक काम होता है। अफसरों की लापरवाही से बिजली कटौती के कारण तीनों शिफ्ट खराब हो गई। लापरवाही, खराब गुणवत्ता के कारण गीडा के उद्यमियों का बड़ा नुकसान हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:GEEDA factories were stopped till late night in Gorakhpur