DA Image
4 जून, 2020|7:47|IST

अगली स्टोरी

कुशीनगर में तबाही मचाने लगी बड़ी गंडक, चार घर नदी में विलीन: VIDEO

कुशीनगर के एपी तटबंध के किनारे बसे गांवों में बड़ी गंडक नदी बड़े पैमाने पर तबाही मचा रही है। अभी कुछ दिनों पूर्व नदी नोनियापट्टी गांव में कटान कर रही थी। लेकिन अचानक से नदी का रुख नोनियापट्टी के आगे खैरखूटा टोले की तरफ हो गया है। बुधवार से नदी एक बार फिर तेवर में आ गई और खैरखूटा टोले को अपने निशाने पर ले लिया। पिछले दो दिनों के भीतर यहां के चार घर नदी में विलीन हो चुके हैं। जबकि गुरुवार को बचे-खुचे घरों को तोड़ने का सिलसिला जारी रहा।

बड़ी गंडक नदी इन दिनों एपी तटबंध के किनारे बसे गांवों में तबाही मचा रही है। अहिरौलीदान गांव के कई टोलों में कहर बरपाने के बाद भी नदी अभी शांत नहीं हुई है। अचानक से नदी का रुख नोनियापट्टी से खैरखूटा टोले की तरफ हो गया है। पहले भी नदी इस टोले को अपना निशाना बना चुकी है। 35 घरों के आबादी वाले इस टोले में अब मात्र 10 घर ही बचे थे।

लेकिन इस साल नदी ने चार और घरों को अपनी आगोश में ले लिया है। अब यहां महज छह घर ही बचे हैं, उन्हें भी तोड़ने का सिलसिला गुरुवार को जारी रहा। गुरुवार को नदी नंद प्रसाद सिंह, मजिस्टर पासवान, रामपूजन पासवान, भगवान पासवान, उमेश सिंह, रमाशंकर सिंह के घर से सटकर बह रही थी। कभी भी इनका घर नदी में विलीन हो सकता है और इस टोले का वजूद खत्म हो सकता है। हालांकि इन लोगों ने अपने घरों से खिड़की, दरवाजा तोड़कर सामान बाहर निकाल लिया है।

पहले ही विलीन हो गए थे 25 घर
अहिरौलीदान गांव के खैरखूटा में पहले 35 घरों की आबादी थी। लेकिन बीते पांच वर्षों में नदी ने 25 घरों को अपनी आगोश में ले लिया। इस साल टोले में 10 घर बचे थे। इसमें से भी सुरेंद्र गुप्ता, राजकुमार गुप्ता, किशोर सिंह व गया शाह समेत चार लोगों का मकान बीते बुधवार को नदी की भेंट चढ़ गया है। अब यहां छह घरों की ही आबादी बची हुई है, जिसे भी अपनी जद में लेने के लिए नदी आतुर है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Four homes drowned and destroyed in river due to Big Gandak in Kushinagar