अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएसए कार्यालय में हुई चोरी का खुलासा, चार गिरफ्तार

arrest

बीएसए कार्यालय में कक्ष व बाक्स की कुंडी तोड़कर अभिलेखों की चोरी करने के मामले का पुलिस ने मंगलवार को खुलासा कर दिया। पुलिस ने मामले में ऑफिस के चपरासी, एक सहायक अध्यापक व एक बर्खास्त शिक्षक समेत चार को गिरफ्तार किया है। घटना में शामिल एक आरोपित फरार बताया जा रहा है। एसपी ने पुलिस टीम की इस कामयाबी पर पांच हजार रुपये का पुरस्कार दिया है। 
पुलिस लाइंस सभागार में मंगलवार को एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि फर्जी दस्तावेज के आधार पर नौकरी पाने के मामले की जांच में 38 शिक्षकों को बर्खास्त किया गया था। इन्हीं बर्खास्त शिक्षकों में एक देवरिया जनपद के बनकटा थानाक्षेत्र के चौधुरछापर गांव निवासी विवेक राय ने अभिलेख गायब करने की साजिश रची थी। उसने अपनी साजिश में बीएसए कार्यालय में चपरासी के पद के पर तैनात महराजगंज जनपद के फरेंदा थानाक्षेत्र के रूदलापुर वार्ड नंबर एक निवासी योगेंद्र साहनी, एक सहायक अध्यापक बलिया जनपद के पकड़ी थानाक्षेत्र के कड़सर गांव निवासी विवेक सिंह व देवरिया जनपद के भाटपाररानी थानाक्षेत्र के कुईचौवर गांव निवासी संतोष सिंह ऊर्फ मिथुन को शामिल किया था। चपरासी से कार्यालय के गेट की चाबी लेकर विवेक राय अपने साथियों के साथ 26 अगस्त की सुबह 05:20 बजे बीएसए कार्यालय के गेट का ताला खोलकर अंदर गया था। इसके बाद चारों ने मिलकर अभिलेख कक्ष व बाक्स की कुंडी तोड़कर अभिलेख ले जाने का प्रयास कर रहे थे। इसी बीच स्वीपर रवींद्र कुमार के आ जाने से आरोपित बिना अभिलेख लिए ही फरार हो गए। पुलिस ने चारों आरोपितों को मंगलवार को हाईिडल तिराहे के पास निर्माणाधीन केंद्रीय विद्यालय के गेट के पास से गिरफ्तार किया। एसपी ने बताया कि अभी एक आरोपित फरार है पर उसके नाम का खुलासा नहीं किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Four arrested reveals stolen in BSA office