DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गन्ने के खेत में लगी आग, किसान की झुलस कर मौत

कोठीभार क्षेत्र के बलहीखोर गांव निवासी फुल्ली प्रसाद चौधरी (62) की मंगलवार को गन्ने के खेत में लगी आग बुझाते समय झुलसने से मौत हो गई। दोपहर तक घर वापस न आने पर बहू कमलावती भी खेत पहुंची, जहां ससुर को जलते देख आग बुझाने का प्रयास की। इस दौरान वह भी झुलस गई। उसका शोर सुनकर आसपास के लोग पहुंचे। कमलावती को गंभीर हालत में सीएचसी निचलौल में भर्ती कराया।
फुल्ली प्रसाद चौधरी के खेत से तीन ट्राली गन्ना कट चुका था। अभी डेढ़ एकड़ गन्ने की फसल खेत में ही है। वह मंगलवार सुबह घर से कटे गन्ने के खेत में पड़ी पत्तियों को जलाने गए थे। इस बीच तेज हवा से खड़ी गन्ने की फसल में आग लग गई। फुल्ली उसे बुझाने लगे। इसी बीच वह आग की चपेट में आ गए। खेत में ही बुरी तरह से झुलस कर मरे पड़े थे। दोपहर होने पर जब वह घर नहीं लौटे तो उनकी बहू कमलावती उन्हें खोजती हुई खेत पर पहुंची। वहां गन्ने में आग बुझ नहीं पाई थी। ससुर को आग से घिरता देख वह बुझाने लगी। इस बीच वह भी झुलस गई। उसके शोर मचाने पर आसपास के खेत में काम कर रहे लोगों ने उसे निजी वाहन से सीएचसी निचलौल पहुंचाया। वहां उसका इलाज चल रहा है। मौके पर पहुंची पुलिस ने फुल्ली के शव को पंचनामा करवाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Fire in sugarcane farm scorching the farmers death