DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर की असली पुलिस पर भारी पड़ रही नकली पुलिस

खुद को पुलिस वाला बताकर लूट करने वाला बदमाशों का गिरोह शहर की पुलिस पर भारी पड़ रहा है। दर्जनभर घटनाओं को अंजाम दे चुका यह गिरोह अभी तक पुलिस के हाथ नहीं आया है। पिछले साल इस गिरोह ने पुलिस के नाम का इस्तेमाल कर चार वारदातों को अंजाम दिया था। वहीं इस साल अब तक छह वारदातों को अंजाम दे चुका है। कुछ घटनाओं में सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस ने बदमाशों का स्केच जारी किया लेकिन अभी तक उनकी पहचान तक नहीं हो पाई है। पहचान न हो पाने की वजह से बदमाशों पर इनाम भी घोषित नहीं हुआ।

वीसी आवास के पास दिनदहाड़े हुई थी प्रबंधक की पत्नी से लूट

गीता प्रेस के उत्पाद प्रबंधक लालमणि तिवारी की पत्नी गीता तिवारी से कैंट क्षेत्र में वीसी आवास के पास शनिवार की सुबह दस बजे दो बदमाशों ने खुद को पुलिस वाला बताकर सोने की चेन और एक जोड़ा कंगन लूट लिया है। बदले में कागज में लिपटी सोने की नकली चूड़ी देकर फरार हो गए। घर पहुंचने के बाद जब जालसाजी की जानकारी हुई तो उन्होंने 100 नंबर पर फोन कर उन्होंने घटना की सूचना दी। गीता प्रेस हैंडलूम मार्केट स्थित आवास में रहने वाले लालमणि तिवारी का कैंट क्षेत्र के इंदिरानगर में निजी आवास है। उनकी पत्नी गीता तिवारी घटना के वक्त सुबह दस बजे रिक्शे से इंदिरानगर स्थित आवास पर जा रही थीं।

भलोटिया में दवा व्यापारी को नकली पुलिसवालों ने लूटा

भलोटिया मार्केट में नकली पुलिसवालों ने बीते एक जून को सिद्धार्थनगर, शोहरतगढ़ के दवा व्यापारी शुभम वर्मा को अपना शिकार बनाया था। व्यापारी ने शक होने पर आईकार्ड मांगा तो बदमाशों ने जेल भेजने की धमकी दी और बैग चेकिंग के बहाने व्यापारी का एक लाख रुपये लूट कर बाइक से फरार हो गए। पास के एक सीसी कैमरे में पूरी वारदात कैद हो गई है। फुटेज के आधार पर पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने का दावा किया पर अब तक कामयाबी नहीं मिली।

कपड़ा व्यवसायी से की थी 7.50 लाख की लूट

खुद को पुलिस वाला बताकर इस गिरोह ने पहली बार कोलकाता से वसूली करने आए व्यापारी भाइयों से 7.50 लाख रुपये की लूट की थी। कोलकाता के फारखी रोड निवासी कपड़े के थोक कारोबारी नजरुल इस्लाम और उनके भाई महबूब हुसैन गोरखपुर वसूली करने आए थे। दोनों लोग कोतवाली क्षेत्र में रेती रोड स्थित एक होटल में ठहरे थे। 24 अक्टूबर 2017 को उन्हें कोलकाता वापस जाना था। सुबह दोनों लोग होटल से बाहर आए। इसी दौरान कुछ युवकों ने खुद को पुलिस वाला बताकर उन्हें पकड़ लिया और तलाशी लेने के बहाने रुपये लूटकर फरार हो गए। पास की एक दुकान में लगे सीसी टीवी कैमरे में यह घटना रिकार्ड हो गई थी। बाद में पुलिस ने स्केच भी जारी किया था।

ट्रांसपोर्टर के कर्मचारी से की 1.56 लाख की लूट

मधुबनी, बिहार के तेजनारायण यादव, कानपुर की एक ट्रांसपोर्ट कंपनी के कर्मचारी हैं। सात नवंबर 2017 को वह गोरखपुर में वसूली करने आए थे। कोतवाली क्षेत्र में साहबगंज मंडी के पास दो व्यापारियों से 1.96 लाख रुपये वसूलने के बाद रात में आठ बजे वह रेलवे स्टेशन पर कानपुर के लिए ट्रेन पकडऩे जा रहे थे। रेती रोड पर दो बाइक से आए चार युवकों ने खुद को पुलिस वाला बताकर बैग की तलाशी लेने के बहाने वसूली में मिली रकम लूट ली थी।

दारोगा बन प्रबंधक की पत्नी को लूटा

शाहपुर इलाके में 27 नवंबर 2017 को नकली पुलिस वालों ने दारोगा बनकर स्कूल प्रबंधक की पत्नी से गहने लूट लिए थे। प्रबंधक की पत्नी खरीदारी करने आई थीं। दुकान से निकल रही थीं उनको कुछ युवकों ने रोक लिया। उनमें से एक ने खुद को चौकी प्रभारी बताकर उनके गहने उतरवा लिए और दोस्तों के साथ फरार हो गया।

दवा व्यापारी की मां को भी बनाया शिकार

कैंट इलाके के बेतियाहाता उत्तरी निवासी दवा कारोबारी अमर केडिया की मां प्रेमलता केडिया 18 फरवरी 2018 को मंगला माता मंदिर में चल रहे सत्संग में शामिल होने जा रही थीं। कमिश्नर आवास के पास पहुंची थीं कि पीछे से एक व्यक्ति ने आवाज देकर उनको रोका और खुद को पुलिस वाला बता कर शहर में आदर्श आचार संहिता लगी होने का हवाला देते हुए हीरे की अंगूठी, सोने की चेन और दो चूडिय़ां उतरवा लीं। गहने उनके पास मौजूद थैले में डालने का झांसा देकर जालसाजी की।

इस साल और भी है घटनाएं

2019 जनवरी कोतवाली क्षेत्र में नखास के पास व्यापारी के मुनीम से एसटीएफ का सिपाही बाताकर 92 हजार लूटे

2019 जनवरी पुलिसवाला बताकर सीवान के चश्मा व्यापारी के मुनीम से 25 हजार लूटा

2019 मार्च में कोतवाली क्षेत्र के शास्त्री चौक पर बेलघाट के दवा व्यापारी का 20 हजार रुपये पुलिसवाले बनकर लूट लिए

2019 मार्च में राजघाट में गीता प्रेस रोड पर पुलिस वाला बनकर व्यापारी की पत्नी की चेन अंगूठी और गहने लेकर फरार हो गए।

बारिश से फिर गहराया बाढ़ का संकट, मुजफ्फरपुर व दरभंगा में खतरा बरकरार

ममता के आरोप पर BJP का पलटवार, कहा-धमकाने वाले CBI अफसरों का नाम बताएं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Fake police high on the city s real police