DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तफ्तीश: विशाल की हत्या नहीं मार्ग दुर्घटना में हुई थी मौत

ips transter in up

चौरीचौरा क्षेत्र के महदेवा जंगल निवासी विशाल चौधरी की हत्या नहीं मार्ग दुर्घटना में मौत हुई थी। पुलिस ने जांच में हत्या का कोई सुराग नहीं मिला है। इसके बाद पुलिस ने हिरासत में लिए सभी आरोपियों को मुक्त कर दिया। 

तफ्तीश
-पुलिस की जांच में मार्ग दुर्घटना में मौत की हुई पुष्टि
-मां की तहरीर पर चार लोगों पर दर्ज था हत्या का केस

मृतक विशाल चौधरी की मां शीला देवी के तहरीर पर पुलिस ने इस मामले में प्रापर्टी डीलर रिंकू जायसवाल, महदेवा गांव के प्रधान बृज किशोर, उनके रिश्तेदार संतोष यादव व जसवंत यादव पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस इस मामले में आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ के बाद मामले की जांच कर रही थी। सीओ चौरीचौरा रघुनाथ गौतम ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ के अलावा अन्य पहलुओं पर जांच के बाद भी विशाल चौधरी की हत्या की पुष्टि नहीं हुई। उसकी मौत मार्ग दुर्घटना में हुई थी। 

शव मिलने के बाद ग्रामीणों ने लगाया था जाम
विशाल की चौरीचौरा के भोपा बाजार चौराहे पर सब्जी की दुकान थी। विशाल सब्जी बेचने के अलावा जमीन के धंधे में भी जुड़ा हुआ था। 24 मई की रात लगभग 10 बजे विशाल अपने कुछ साथियों के साथ फुलवरिया मोड़ पर स्थित एक ढाबे पर खाना खाने गया था। कुछ देर बाद रात में ही विशाल फुटहवा के पास सड़क के किनारे घायल अवस्था में पड़ा मिला। उसके सर में गंभीर चोट के निशान थे देखते ही देखते कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। घटना रात में लगभग 11 बजे की बताई जा रही है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दुर्घटना में मौत बताया लेकिन बाद विशाल की मां शीला की तहरीर पर हत्या का केस दर्ज कर लिया गया। दूसरे दिन हत्यारोपियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर ग्रामीणों ने भोपा बाजार के पास सड़क जाम करने के साथ पुलिस पर पथराव भी कर दिया था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Explanation: Death of Huge was not killed in accident