Even if the challan is cut do not panic there are ways to avoid fines - चालान कट भी जाए तो घबराएं नहीं, जुर्माने से बचने के हैं रास्ते DA Image
14 नबम्बर, 2019|3:07|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चालान कट भी जाए तो घबराएं नहीं, जुर्माने से बचने के हैं रास्ते

चालान कट भी जाए तो घबराएं नहीं, जुर्माने से बचने के हैं रास्ते

नये ट्रैफिक कानून के बाद बढ़े जुर्माने ने लोगों को टेंशन में डाल दिया है। चालान के समय कागज नहीं है तो सप्ताह भर के अंदर ओरिजनल कागज प्रस्तुत कर जुर्माने से बच सकते हैं। आरटीओ और ट्रैफिक पुलिस को कागज नहीं दिखा सके तो कोर्ट का दरवाला खटखटा सकते हैं। आरटीओ और ट्रैफिक पुलिस द्वारा इसे लेकर लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है।

ट्रैफिक पुलिस कानून तोड़ने वालों पर जुर्माना कर ही रही है, पर दूसरी तरफ आम लोगों में उन पुलिस वालों पर गुस्सा दिख रहा है जो सड़क पर कानून तोड़ते नजर आ रहे हैं। धर्मशाला पुल पर बीते दिनों कार सवार लोगों द्वारा होमगार्ड के जवानों से बदसलूकी को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ के जिम्मेदारों की नसीहत है कि वाहन के ओरिजल कागज साथ में रखें। स्मार्ट फोन है तो डिजी लॉकर में रखने की भी सुविधा है। गाड़ी चलाते समय चार कागज रखना अनिवार्य है। मसलन, रजिस्ट्रेशन पेपर, ड्राइविंग लाइसेंस, बीमा और प्रदूषण कंट्रोल सर्टिफिकेट। इन कागजों को डीजी लाकर में भी रखा जा सकता है। ऐसे में ओरिजनल कागज साथ में रखने की जरूरत नहीं है। एसपी ट्रैफिक आदित्य प्रकाश वर्मा का कहना है कि वाहन चेकिंग के दौरान कागज नहीं दिखाने पर चालान करना अनिवार्य है। हालांकि सप्ताह भर के अंदर ओरिजिनल कागजात दिखा दिया जाता है तो सिर्फ 100 रुपये जुर्माना वसूल को चालान को खत्म कर दिया जाता है। यह सहूलियत रजिस्ट्रेशन पेपर, ड्राइविंग लाइसेंस, बीमा और प्रदूषण कंट्रोल सर्टिफिकेट के मामले में है। सोशल मीडिया पर खबरें चल रही हैं कि वाहन चेकिंग के दौरान कागज नहीं होने पर 15 दिनों तक कागज दिखाने की छूट है। ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ के अधिकारी इस सूचना को खारिज कर रहे हैं। एसपी ट्रैफिक का कहना है कि कागज नहीं होने पर जिसे छोड़ा जाएगा वह वापस आएगा इसकी गारंटी कैसे ली जा सकती है। जो घर पर कागज होने की बात करते हैं, उनकी गाड़ी रोक ली जाती है। जब वह कागज दिखाते हैं तो 100 रुपये का जुर्माना वसूल कर गाड़ी छोड़ दी जाती है।

डिजी लॉकर में रखें कागजात

ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ के अधिकारी प्रचारित करा रहे हैं कि लोग कागजात को डिजी लॉकर में रख सकते हैं। आरटीओ प्रवर्तन डीडी मिश्रा का कहना है कि ट्रैफिक पुलिस से लेकर थानों की पुलिस को सूचना दे दी गई है कि डीजी लॉकर पूरी तरह मान्य है। डीजी लॉकर एप को प्ले स्टोर पर अपलोड किया जा सकता है।

वाहन चेकिंग के दौरान कागज नहीं होने पर चालान करना अनिवार्य है। सप्ताह भर के अंदर कागजात दिखाने पर 100 रुपये जुर्माना वसूला जाता है। यह जुर्माना मौके पर कागजात नहीं दिखाने का है। सोशल मीडिया पर 15 दिन के अंदर कागज दिखाने की छूट की सूचना पूरी तरह भ्रामक है। सप्ताह भर के अंदर भी कागज नहीं दिखा पाने वाले लोग कोर्ट में कागज दिखाकर राहत पा सकते हैं।

डीडी मिश्रा, आरटीओ प्रवर्तन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Even if the challan is cut do not panic there are ways to avoid fines