DA Image
19 सितम्बर, 2020|11:13|IST

अगली स्टोरी

बिजली निगम की जांच टीम ने पकड़ी 42 हजार रीडिंग स्टोर

बिजली निगम की जांच टीम ने पकड़ी 42 हजार रीडिंग स्टोर

महानगर के विभिन्न क्षेत्रों में बिजली निगम की टीम लाइन लास वाले फीडरों पर अभियान चला रही है। सोमवार को जांच के दौरान हांसपुर इलाके में एक उपभोक्ता के मीटर में 42 हजार रीडिंग स्टोर मिली। जांच टीम ने रीडिंग पर बिल बनाकर उपभोक्ता को दिया। भुगतान नही करने पर बिजली काट दी जाएगी।

नार्मल अवर अभियंता प्रदीप सिंह ने बताया कि लाइन लॉस की वजह से सभी जेई को उपभोक्ताओं की सूची सौंपी गई है। फीडर के हिसाब से उपभोक्ताओं की जांच की जाएगी। इसी क्रम में राजघाट फीडर के हांसपुर इलाके में उपभोक्ता मोहम्मद फारुख व जरीना अख्तर के परिसर में दो मीटर लगे पाए गए। चेकिंग करने पर दोनों में कुल 42 हजार रीडिंग स्टोर मिली। उन्होंने बताया कि लगभग 3 लाख रुपये का बिजली बिल बना है। उपभोक्ता को रीडिंग पर बिल बनाकर दे दिया गया।

रीडर नहीं आते हम क्या करें

बिजली निगम की बिलिंग एजेंसी के लोग घरों में रीडिंग निकलने समय से नही पहुँचते। उपभोक्ता ने बताया कि उनके यंहा रीडर बिल निकालने आते ही नही। इसी वजह से रीडिंग स्टोर हो गई। अगस्त के बिल खुद जाकर जमा किया था।

कृष्णा टॉकीज समेत 11 बड़े बकाएदारों की काटी बिजली

विद्युत वितरण खंड बक्शीपुर की तरफ से 10 किलोवाट से अधिक के बकाएदारों की जांच की गई। अधिशासी अभियंता यदुनाथ राम ने बताया कि बीएसएनएल एक्सचेंज गोरखनाथ व बक्शीपुर, कृष्णा टाकीज, नवल किशोर फ्लोर मिल, सहित कुल 12 बड़े बकाएदारों की बिजली काटी गई। 16 बकाएदारों से 77.20 लाख रुपए जमा कराए गए। बताया कि अगले महीने पहले सप्ताह में 5 किलोवाट से 9 किलोवाट तक के बकाएदार उपभोक्ताओं की चेकिंग कराई जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Electricity Corporation 39 s investigation team found 42 thousand reading stores