DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चार दिन प्राइवेट अस्पताल में भर्ती रहे डॉ. राजीव मिश्र

बीआरडी मेडिकल कालेज के पूर्व प्राचार्य डॉ. राजीव मिश्र की तबीयत एक बार फिर खराब हो गई। चार दिन पहले उन्हें नाजुक हालत में निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से शनिवार को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। 
बीआरडी के ऑक्सीजन कांड के आरोपी पूर्व प्राचार्य करीब 10 महीने जेल में बंद रहे। इस दौरान उनके लिवर में गांठ बन गई। उससे खून का रिसाव होने लगा। हालत खराब होने पर उन्हें लखनऊ के डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया था। सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने पर बीते नौ जुलाई को वह जेल से बाहर आए। बताया जाता है कि इसके बाद भी उनकी तबीयत में सुधार नहीं हुआ। बीते बुधवार को उनकी तबीयत एक बार फिर बिगड़ गई। परिवारीजनों ने उन्हें बीआरडी के पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां चार दिन वह आईसीयू में रहे। शनिवार की शाम को उन्हें डिस्चार्ज किया गया। डॉक्टरों के मुताबिक लिवर सिरोसिस में अपेक्षित सुधार नहीं है। डॉक्टरों ने उन्हें दिल्ली में इलाज कराने की सलाह दी है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dr Rajeev Mishrawho was admitted to a private hospital for four days