DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  गोरखपुर  ›  रामजन्म भूमि ट्रस्ट मामले की न्यायिक जांच की मांग
गोरखपुर

रामजन्म भूमि ट्रस्ट मामले की न्यायिक जांच की मांग

हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 08:10 PM
रामजन्म भूमि ट्रस्ट मामले की न्यायिक जांच की मांग

गोरखपुर। वरिष्ठ संवाददाता

जिला एवं महानगर कांग्रेस कमेटी ने श्री राम मन्दिर के निर्माण के लिए भूमि खरीद में अनियमितताओं की जांच के संबंध में सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश से कराने की मांग की है। राष्ट्रपति को संबोधित आठ सूत्री मांगों का ज्ञापन डीएम की अनुपस्थिति में एडिशनल सिटी मजिस्ट्रेट पंकज द्विवेदी को सौंपा।

बृहस्पतिवार को जिलाध्यक्ष निर्मला पासवान और महानगर अध्यक्ष आशुतोष तिवारी के नेतृत्व में कांग्रेसी इंदिरा तिराहे से पैदल मार्च करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। प्रांगण में धरना प्रदर्शन के बाद ज्ञापन दिया। इस दौरान दिनेशचन्द्र श्रीवास्तव, तौकीर आलम, रोहन पांडेय, दिलीप कुमार निषाद, सोनिया शुक्ला, प्रवीण पासवान, साहिल विक्रम तिवारी, जीत बंधन, धनंजय सिंह, प्रेमलता चतुर्वेदी, प्रणव उपाध्याय, गोपाल गांधी, जितेन्द्र विश्वकर्मा, मोहम्मद अरशद, श्यामशरण श्रीवास्तव, संजय सिंह, स्नेहलता, श्रवण पांडेय, राजेन्द्र यादव, देवेन्द्र निषाद, बृजनरायण शर्मा, प्रभात चतुर्वेदी, मोनिका पांडेय, सुहेल अंसारी, अमित राव, अनुराग पाण्डेय, विनीत शुक्ला, विनीत कसौधन, रंजीत चैधरी, आकाश मिश्रा, जावेद जमा अंसारी, आशीष प्रताप सिंह, सलमान अहमद, मनीष कुमार गौतम, संजय जायसवाल, रामसमुझ सांवरा, पुष्पलता, अशोक निषाद, राजीव कुमार सिंह आदि लोग भारी संख्या में उपस्थित रहे।

विधानसभा चुनाव में निषाद समाज को जिम्मेदारी सौंपने की मांग

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी पिछड़ा वर्ग के प्रदेश सचिव एवं प्रभारी आजमगढ़ देवेंद्र कुमार धनुष ने राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पत्र लिखकर विधानसभा चुनाव में निषाद समाज को ‌जिम्मेदारी देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश में निषाद बिरादरी की जनसंख्या अधिक है। निषाद समाज का जनाधार विधानसभा चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है। जिसका पूरा लाभ क्षेत्रीय पार्टियां अपने संग जोड़कर लेती रही हैं। यदि निषाद समाज के लोगों को 2022 विधानसभा चुनाव में चुनाव की जिम्मेदारी सौंपी गयी तो क्षेत्रीय पार्टियां असफल हो जाएंगी। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनना इससे तय होगा।

संबंधित खबरें