Dead due to Aakashiye bijli in Gorakhpur family men asked for support - आकाशीय बिजली से मरने वालों के परिजनों को शासन की मदद DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आकाशीय बिजली से मरने वालों के परिजनों को शासन की मदद

गोरखपुर के उत्तरांचल में स्थित कैम्पियरगंज क्षेत्र में मंगलवार की शाम 5 बजे अलग-अलग स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने से दो महिलाओं समेत 3 लोगों की मौत हो गई थी। आकाशीय बिजली ने एक भैंस की भी जान ले ली थी। दैवीय आपदा में मारे गए तीनों लोगों के परिवारीजनों को शासन के निर्देश के मुताबिक आपदा प्रबंध प्राधिकरण द्वारा 4-4 लाख रुपये दिए जा रहे हैं। भैंस मालिक को भी 30 हजार रुपये दिए जा रहे हैं।

तीनों पीड़ित परिवारों को 4-4 लाख रुपये की सरकार से आर्थिक मदद
आकाशीय बिजली से मरी भैंस के मालिक को भी दिए जा रहे हैं 30000
मंगलवार को आकाशीय बिजली से 2 महिलाओं समेत 3 की हुई थी मौत

आकाशीय बिजली से कैम्पियरगंज इलाके में दो महिलाओं समेत तीन लोगों की मौत की खबर पाते ही राजस्व विभाग के अधिकारी घटनास्थलों पर पहुंच गए। राजस्व विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों ने घटनाओं के सम्बंध में अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी के वियजेंद्र पांडियन को दे दी। शासन के निर्देश के मुताबिक जिलाधिकारी ने पीड़ित परिवारों को तत्काल आर्थिक मदद दिए जाने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी के निर्देश के तुरंत बाद जिला आपदा प्रबंध प्राधिकरण ने प्रक्रिया शुरू कर दी। बुधवार की दोपहर में जिला प्रशासन ने प्रक्रिया पूरी कर ली। जिला आपदा प्रबंध प्राधिकरण द्वारा आकाशी बिजली की चपेट में आईं भौराबारी गांव निवासी 50 वर्षीया शारदा देवी, मुहम्मदपुर हगना गांव निवासी राजाराम,और गोपालगंज उर्फ हरनामपुर निवासिनी 54 वर्षीय आरती देवी के परिवारीजनों को 4-4 लाख रुपया जारी कर दिया गया। पीपीगंज थाना क्षेत्र स्थित कल्याणपुर निवासी गणेश निषाद की एक भैंस भी मर गई थी। आपदा प्रबंध प्राधिकरण द्वारा गणेश को भी 30 रुपये की आर्थिक मदद दी गई है।

यह है घटनाक्रम
मंगलवार की शाम 5 बजे कैम्पियरगंज क्षेत्र के भौराबारी गांव निवासी 50 वर्षीया शारदा देवी अपने पति रामरक्षा के साथ खेत में धान की नर्सरी में पानी चला रही थी। चमक और गड़गड़ाहट के साथ आकाशीय बिजली गिर गई और दोनों उसकी चपेट में आ गए। शारदा की मौके पर ही मौत हो गई। रामरक्षा गम्भीर रूप से घायल हो गए। मुहम्मदपुर हगना गांव निवासी राजाराम भैस चरा रहे थे। बारिश शुरू होने पर वह जामुन के पेड़ के नीचे चले गए। आकाशीय बिजली गिरने से राजाराम की भी मौत हो गई।गोपालगंज उर्फ हरनामपुर निवासिनी 54 वर्षीय आरती देवी खेत में सब्जी लेने गई थीं। वह भी आकाशीय विजली की चपेट में आ गईं और उनकी मौत हो गई। पीपीगंज क्षेत्र स्थित कल्याणपुर निवासी गणेश की एक भैंस भी आकाशीय बिजली की चपेट में आ गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Dead due to Aakashiye bijli in Gorakhpur family men asked for support