DA Image
5 जुलाई, 2020|4:16|IST

अगली स्टोरी

डीडीयू के छात्रों को मैनुअल आईकार्ड जारी करने पर रोक

डीडीयू के छात्रों को मैनुअल आईकार्ड अब नहीं जारी होगा। कुलपति ने इस पर रोक लगा दी है। इसकी जगह स्मार्ट आईकार्ड जारी करने का निर्णय लिया जा सकता है। मुख्य नियंता ने अलग-अलग रंग के मैनुअल आईकार्ड तैयार कराकर जारी करने का निर्णय लिया था। कुलपति तक यह शिकायत पहुंची है कि मैनुअल आईकार्ड की डुप्लीकेसी रोक पाना बड़ी समस्या होगी। कुलपति ने इस संबंध में वार्ता के लिए मुख्य नियंता को बुलाया है।  

गोरखपुर विश्वविद्यालय
-अलग-अगल कलर के मैनुअल आईकार्ड जारी करने का मुख्य नियंता ने लिया था निर्णय
-डुप्लीकेसी की आशंका व छात्रसंघ चुनाव को देखते हुए कुलपति ने लिया निर्णय

डीडीयू में सात आठ साल पहले छात्रों को तक मैनुअल आईकार्ड ही जारी किए जाते थे। बाद में विवि प्रशासन ने स्मार्ट आईकार्ड जारी करने का निर्णय लिया। पिछले साल तक स्मार्ट आईकार्ड जारी होते थे। कार्ड तैयार करने के लिए एक एजेंसी ठेका दिया गया था, वह एजेंसी इसमें लंबा समय लेती थी। इस बीच केवल एक बार छात्रसंघ चुनाव हुआ। तब सभी के स्मार्ट आईकार्ड नहीं होने के कारण चुनाव में प्रवेश की रसीद पर भी मतदान की छूट देनी पड़ी। पिछले साल भी कई छात्रों को समय से परिचय पत्र नहीं मिल सके थे। गेट से बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश रोकने पर समस्या आने लगी तो मुख्य नियंता ने तय किया इस साल से मैनुअल आईकार्ड समय से सभी छात्रों को जारी करेंगे। मुख्य नियंता ने ऐसे कार्ड छपवा कर मंगा भी लिए थे।    
बंटने से पहले यह बात कुलपति तक पहुंच गई और अंदेशा जताया गया कि चुनाव में मैनुअल आईकार्ड की डुप्लीकेसी रोकना बड़ी चुनौती होगी। इस पर उन्होंने मैनुअल आईकार्ड जारी करने पर रोक लगा दी है। स्मार्ट आईकार्ड जारी करने के संबंध में वार्ता के लिए मुख्य नियंता को बुलाया है।

‘‘छात्रों को परिचय पत्र जारी किए जाने के संबंध में कुलपति जी ने वार्ता के लिए बुलाया है। गुरुवार को वार्ता के बाद तय होगा कि किस तरह का परिचय पत्र जारी होगा। प्राथमिकता प्रवेश के तत्काल बाद परिचय पत्र उपलब्ध कराने की है ताकि छात्रों को किसी तरह की दिक्कत का सामना न करना पड़े।’’
प्रो. गोपाल प्रसाद, मुख्य नियंता, डीडीयू  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:DDU students ban on issue of manual