अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संवेदनाओं का विशाल भण्डार है अटल की कविताओं में: योगी आदित्यनाथ

अटल बिहारी वाजपेयी कवि हृदय व्यक्ति थे। इसीलिए उनकी कविताओं में संवेदनाओं का विशाल भंडार था। उनका कवि हृदय प्रत्येक व्यक्ति के लिए सोचता था। वे सार्वजनिक जीवन से लगभग 11 वर्ष दूर रहे, किसी भी कार्यक्रम में भाग भी नहीं लिया लेकिन उनकी मृत्यु पर हर व्यक्ति दुखी हुआ, यह उनके महान व्यक्तित्व की पहचान है। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहीं।

वे रविवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम मासिक पुण्यतिथि पर रैम्पस में आयोजित काव्यांजलि समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अटल जी का जीवन राष्ट्र को समर्पित था। यही कारण है कि उनके निधन पर विभिन्न पार्टी व समाज के अलग-अलग क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों ने अपनी श्रद्धांजलि दी। इसमें युवाओं की भी बड़ी संख्या में सहभागिता थी। वे जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना किसी भेदभाव के हर वर्ग तक पहुंचाने के पक्षधर थे। अपने नेतृत्वकाल में उन्होंने ऐसा किया भी। ऐसे विराट व्यक्तित्व को पाने के लिए कठिन साधना करनी पड़ती है।

देश भर में आयोजित हुए हैं कार्यक्रम
कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए सीएम ने बताया कि प्रदेश के 403 और देश के 4300 स्थानों पर काव्यांजलि कार्यक्रम आयोजित हुए हैं। अटल जी चूंकि एक संजीदा कवि हृदय भी थे, इसलिए काव्यांजलि के माध्यम से उन्हें साहित्यिक श्रद्धांजलि अर्पित करने का निर्णय लिया गया। इसके पूर्व कार्यक्रम में विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल ने कार्यक्रम के उद्देश्य पर विस्तार से प्रकाश डाला।

कार्यक्रम और कवियों की रचनाओं को सराहा
'काव्यांजलि' कार्यक्रम के दौरान कवियों के काव्य पाठ को सुनकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भावुक हो उठे। मंच से कवियों की भावपूर्ण रचनाओं की मुक्तकंठ से प्रशंसा की। कार्यक्रम के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी। अपने संबोधन में अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम की चर्चा कर उन्होंने यहां के आयोजकों का मान भी बढ़ाया।

कवियों को अंगवस्त्र भेंट किया
'अटल स्मृति काव्यांजलि' कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने अटल बिहारी वाजपेयी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की।कार्यक्रम के आखिर में उन्होने काव्यांजलि कार्यक्रम में उपस्थित कवियों पीएन श्रीवास्तव, अर्चना मालवीया, नरसिंह बहादुर चन्द, प्राची राज, राकेश राज, डॉ. रंजना वर्मा  रैन, चारू आशा सिंह, चेतना पाण्डेय एवं प्रज्ञा, खुर्शीद आलम आदि शामिल रहे। कार्यक्रम में एमएलसी देवेन्द्र प्रताप सिंह, सदर विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल, ग्रामीण विधायक विपिन सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष उपेन्द्र शुक्ल, क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मेन्द्र सिंह, महानगर अध्यक्ष राहुल श्रीवास्तव, भाजपा नेत्री रंजना गुप्ता, पूर्व मेयर डॉ. सत्या पाण्डेय समेत अन्य उपस्थित रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CM Yogi Adityanath speaks in Kavyanjali in Gorakhpur