DA Image
17 सितम्बर, 2020|3:31|IST

अगली स्टोरी

वाराणसी फोरलेन के काम में सुस्ती पर सीएम नाराज

वाराणसी फोरलेन के काम में सुस्ती पर सीएम नाराज

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर-वाराणसी फोरलेन निर्माण की धीमी प्रगति पर सख्त नाराजगी जाहिर की। हैरानी जताई कि इतनी हिदायतों के बाद भी सिर्फ 40 फीसदी ही पूरा हो सका। सीएम ने कहा कि मजदूरों की संख्या और अन्य निर्माण संबंधी जरूरी संसाधन बढ़ाकर निर्माण कार्य में तेजी लाई जाए।

सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार को गोरखनाथ मंदिर में जिले के अधिकारियों के साथ निर्माण कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। डीएम के विजयेंद्र पांडियन ने बताया कि सीएम ने गोरखपुर से सटे बाघागाड़ा से बेलीपार की तरफ फोरलेन का निर्माण कार्य इसी महीने के आखिर तक शुरू करने के निर्देश दिए हैं। प्रमुख सड़कों के निर्माण कार्य की भी समीक्षा की। इस दौरान सीएम ने निर्देश दिए कि नवंबर तक शहरी क्षेत्र के भीतर मोहद्दीपुर-जंगल कौड़िया और मेडिकल कॉलेज फोरलेन दोनों ही फोरलेन सड़क के साथ नाला निर्माण का भी काम पूरा कर लिया जाए। निर्माण के कारण लोगों को आए दिन दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अब बारिश भी नहीं है, ऐसे में काम की रफ्तार बढ़ाएं। मजदूरों की संख्या बढ़ा कर दिन-रात काम कराएं।

शहर में बिजली के तारों को भूमिगत करें

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बिजली निगम के अधिकारियों को निर्देश दिया कि शहर में बिजली के तारों को भूमिगत किया जाए। जिले झूलते हुए तारों को जल्द से जल्द कसा जाए। महराजगंज से गोरखपुर फोरलेन में बनाए गए यूटिलिटी डक में बिजली के तारों को डालने का भी सीएम योगी ने निर्देश दिया। डीएम ने बताया कि शहर में बिजली के तार अंडरग्राउंड करने के लिए 10 करोड़ रुपये भी स्वीकृत हो गए हैं।

स्वीकृत 93 सड़कों एवं नालियों का तत्काल काम शुरू हो

सीएम ने नगर निगम के आयुक्त एवं नगर निकायो के लिए डीएम को निर्देशित किया कि सभी स्वीकृत सड़क एवं नाली की 93 परियोजनाओं को तत्काल शुरू कराया जाए। इस दौरान नाली निर्माण में गुणवत्ता का ख्याल रखा जाए। यह भी ध्यान रखे कि जल निकासी बाधित न हो और नालियों का फ्लो ठीक रहे।

कोरोना संक्रमितों को 500 बेडेड अस्पताल में भर्ती करें

मुख्यमत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज 500 बेड के अस्पताल में किया जाए। डीएम ने बताया कि अब वहां मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। योगी ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए डोर टू डोर सर्वे पर बल दिया। उन्होंने कहा कि बुर्जुग, गम्भीर बीमारी से ग्रसित, कोरोना संक्रमित मरीजों समेत बच्चों, गर्भवती महिलाओं की विशेष निगरानी की जाए। उनकी गहन जांच करते हुए जल्द से जल्द से उपचार दिया जाए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CM angry over slowness in work of Varanasi Fourlane