class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोरखपुर जिला जेल में चाचा नेहरू ने मनाया था 51वां जन्मदिन

1 / 2Nehru

2 / 2

PreviousNext

आज देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की जयंती मनाई जा रही है। संयोग ही है कि उन्होंने अपनी 51 वीं जन्मदिन गोरखपुर मंडलीय कारागार में मनाया था। जहां पंडित नेहरू ने 12 रातें गुजारी थी, वहां उनकी यादें आज भी जिंदा हैं। 

05 नवंबर 1940 को गोरखपुर जेल में लाए पंड़ित जवाहर लाल नेहरू
16 नवंबर 1940 को गोरखपुर जेल से देहरादून जेल भेजे गए
04 साल का कठोर कारावास की सजा डीआईआर (37) के अंतर्गत मिली थी
04 नवंबर 1944 को होनी थी रिहाई लेकिन दिसंबर 1941 में हुए रिहा
3425 नम्बर कैदी की मिली थी नेहरू को पहचा

असल में द्वितीय विश्वयुद्ध शुरू हो गया था और बिट्रिश सरकार भारतीयों को युद्ध में शामिल होने के लिए भेज रही थी। पंडित नेहरू ने भारत को युद्ध में भाग लेने के लिए मजबूर करने का विरोध करते हुए व्यक्तिगत सत्याग्रह शुरू कर दिया। इस कारण 31 अक्तूबर 1940 को गिरफ्तार कर उन्हें 4 वर्ष की कड़ी सजा सुनाई गई। गिरफ्तारी के दौरान बिट्रिश सरकार उन्हें एक जेल से दूसरी जेल भेज रही थी। इसी कड़ी में 77 बरस पहले कड़ी सुरक्षा में पंडित नेहरू गोरखपुर की जेल में लाए गए। मण्डलीय कारागार के रिकार्ड के मुताबिक जवाहर लाल नेहरू को डीआईआर (37) के अंतर्गत मिली सजा में 5 नवंबर 1940 को लाया गया, यहां से उन्हें 12वें दिन यानी 16 नवंबर 1940 को देहरादून जिला कारागार शिफ्ट कर किया गया। नेहरू दिसंबर 1941 में अन्य नेताओं के साथ जेल से रिहा हो गए थे। हालांकि उनकी सजा 4 नवम्बर 1944 को पूरी हो रही थी। 

‘और जेल में मना जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिन’
गोरखपुर जिला जेल में कठोर कारावास की सजा पाए पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को ‘कैदी नम्बर 3425’ की पहचान मिली थी। जवाहर लाल नेहरू गोरखपुर जेल में ही उनका जन्मदिन सादगी के साथ मना। स्थानीय कांग्रेसियों ने जिला जेल में उनसे छोटी सी मुलाकात की जन्मदिन की बधाई दी। हालांकि जिला जेल में उनसे कौन लोग मिलने आए इसका रिकार्ड नहीं मिला। सदन रहे कि पंड़ित जवाहर लाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 और निधन 27 मई 1964 को हुआ था। 

जेल में बना ‘नेहरू स्मृति-भवन’
पंड़ित नेहरू को गिरफ्तारी के दौरान 12 दिन जिस बैरक में रखा गया, उसे आजाद हिन्दुस्तान में नेहरू स्मृतिभवन के रूप में विकसित किया गया। इस स्मृति भवन में अध्ययन कक्ष, शयन कक्ष के साथ उनकी रसोई भी है। उनकी यादों को संजोने के लिए जेल प्रशासन ने उनकी प्रतिमा स्थापित की। मण्डलीय कारागार गोरखपुर के वरिष्ठ जेल अधीक्षक डा. रामधनी कहते हैं कि ‘नेहरू स्मृति भवन का खास-रखाव किया जाता है।’

मण्डलीय कारागार में आज मनेगा बालदिवस
मण्डलीय कारागार गोरखपुर के वरिष्ठ जेल अधीक्षक डा. रामधनी के निर्देश जेलर आर के सिंह ने मंगलवार को बाल दिवस मनाने के लिए खास तैयारी की है। मण्डलीय कारागार में अपनी मॉओं के साथ बंद 14 मासूम बच्चों के साथ जेल प्रशासन बाल दिवस बनाएगा। इसके लिए बच्चों के लिए सर्दी के कपड़े, मिठाईयां मंगाई गई हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रम के बीच बाल दिवस मनेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chacha Nehru celebrated 51st birthday in Gorakhpur district jail
फेसबुक लाइव और वाट्स एप ग्रुप्स से धुआंधार प्रचारगोरखपुर-बस्‍ती मंडल में 16 से धुआंधार सभाएं करेंगे मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ