CBSE Now marks will be given internal marks in all subjects in the board examination - सीबीएसई : बोर्ड परीक्षा में अब सभी विषयों में मिलेंगे आतंरिक अंक DA Image
15 दिसंबर, 2019|10:44|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीएसई : बोर्ड परीक्षा में अब सभी विषयों में मिलेंगे आतंरिक अंक

सीबीएसई : बोर्ड परीक्षा में अब सभी विषयों में मिलेंगे आतंरिक अंक

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने इसी सत्र में परीक्षा को लेकर बड़ा बदलाव किया है। सीबीएसई ने हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के विद्यार्थियों को सभी विषयों में आंतरिक अंक देने का फैसला लिया है।

यूपी बोर्ड की तरह अब सीबीएसई के छात्रों को भी सभी विषयों में आंतरिक अंक दिए जायेंगे। हाई-स्कूल के छात्रों को सभी पांच विषयों में 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के रूप में दिए जाएंगे। सीबीएसई द्वारा इस बदलाव से संबंधित नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। इसके अलावा शेष 80 अंकों पर ही छात्रों को लिखित परीक्षा देनी होगी।

सीबीएसई 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए भी सीबीएसई ने बड़ी सौगात दी है। साइंस स्ट्रीम के छात्रों के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और बायोटेक्नोलॉजी में 30 अंक के प्रैक्टिकल अंक के अलावा अन्य विषयों में भी 20 अंक दिए जाएंगे। साथ ही कॉमर्स व आर्ट स्ट्रीम के छात्रों के लिए सभी पांच विषयों में 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के लिए निर्धारित किए गए हैं। यानी अब विज्ञान वर्ग के छात्रों को लिखित परीक्षा में 70 व 80 नंबर के प्रश्न-पत्र मिलेंगे जबकि आर्ट व कॉमर्स के छात्रों का 80 अंक के लिए लिखित मूल्यांकन होगा।

बॉक्स

बढ़ी बहुविकल्पीय सवालों की संख्या

बहुविकल्पीय प्रश्नों की संख्या भी बढ़ा दी गई है। साथ ही विस्तृत प्रश्नों के की संख्या कम कर दी गई है। अलग-अलग विषयों में प्रश्नों की संख्या घटाई गई है। कुछ विषयों में विस्तृत प्रश्नों की संख्या पिछले साल की तुलना लगभग आधी कर दी गई है। साथ ही 12वीं के छात्रों के लिए भी बहुविकल्पीय प्रश्नों की संख्या बढ़ा दी गई है। कुछ विषयों में विस्तृत प्रश्नों की संख्या बेहद कम कर दी गई है। ऐसे में अब छात्रों के ऊपर पढ़ाई का दबाव बेहद कम हो जाएगा।

कोट

सीबीएसई के बच्चों को आंतरिक मूल्यांकन का लाभ मिलेगा। इससे बच्चों के को-कॅरिकुलर एक्टिविटी का भी मूल्यांकन हो सकेगा। साथ ही विस्तृत प्रश्नों की संख्या कम होने से मानसिक दबाव भी कम होगा।

- अजीत दीक्षित, सीबीएसई को-आर्डिनेटर

नए परीक्षा प्रारूप से बच्चों पर मानसिक दबाव कम होगा। छात्रों को परीक्षा में तैयारी करने में बेहद आसानी होगी। सीबीएसई द्वारा तैयार नए परीक्षा कार्यक्रम में सारी चीजें विस्तृत रूप में पहले ही दे दी गई हैं। इस के आधार पर तैयारी किए जाने की जरूरत है।

- शंभूनाथ कुशवाहा, परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई बोर्ड

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CBSE Now marks will be given internal marks in all subjects in the board examination