DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सात मिनट भी भाषण नहीं दे सके छात्रसंघ उम्मीदवार

सात मिनट भी भाषण नहीं दे सके छात्रसंघ उम्मीदवार

डीएवी पीजी कॉलेज में छात्रसंघ का एक भी उम्मीदवार सात मिनट नहीं बोल सका। तीन प्रत्याशियों ने चार से पांच मिनट में अपनी बात रखी और शेष 6 उम्मीदवारों ने मात्र एक से दो मिनट में अपनी बात यह कहते हुए समाप्त कर दी कि वह अधिक बोलने में नहीं, करने में यकीन रखते हैं।

दोपहर करीब साढ़े 12 बजे प्राचार्या डॉ. राजकुमारी पांडेय व चुनाव अधिकारी डॉ. श्रीश मणि त्रिपाठी ने कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए कहा कि क्वालिफाइंग स्पीच इसलिए होती है ताकि छात्रनेता अपनी बात रख सकें। यह छात्रनेताओं की बोलने व डायलाग डिलीवरी प्रदर्शित करने का माध्यम होता है। इससे छात्रों को यह सुविधा मिल जाती है कि वह उस नेता का चुनाव कर सकें, जो उनकी बात प्रभावशाली ढंग से रख सके।

इसके बाद मंच पर एक-एक कर सभी नौ प्रत्याशियों को आमंत्रित किया गया। केवल तीन प्रत्याशी ही अपनी बात 4 से 5 मिनट में रख सके। क्वालिफाइंग स्पीच के लिए समय दो घंटे निर्धारित था मगर यह महज एक घंटे में ही समाप्त हो गया। कॉलेज में इस बार चुनाव में वोटरों की संख्या करीब 1250 है मगर छात्रनेताओं का भाषण सुनने के लिए महज 80-85 विद्यार्थी ही मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Candidates could nt give speech even seven minutes in DAV