DA Image
1 जुलाई, 2020|1:43|IST

अगली स्टोरी

सावन में कांवड़ यात्रा पर पाबंदी, शिवालयों पर नहीं चढ़ेंगे जल

सावन में कांवड़ यात्रा पर पाबंदी, शिवालयों पर नहीं चढ़ेंगे जल

कोरोना संक्रमण के चलते इस बार सावन महीने में कावड़ यात्रा पर रोक रहेगी। शिवालयों में भी पूजा पाठ की अनुमति नहीं होगी। शिव भक्त बाबा धाम की यात्रा नहीं कर पाएंगे। साथ ही शिवालयों में जल भी नहीं चढ़ा पाएंगे। सावन के सोमवार को मंदिरों में जलाभिषेक रोकने को लेकर पुलिस लोगों में आम सहमति बनाने में जुटी है। इसको लेकर पुलिस लगातार एनाउंस व बैठक कर रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जनता के बीच जागरूकता कैंप भी लगाया जाएगा। पूजा स्थल को लेकर शासन से जारी गाइड लाइंस का पालन कराया जाएगा।

छह जुलाई से इस बार सावन की शुरुआत हो रही है। सावन के पहले दिन ही सोमवार है तीन अगस्त तक रहने वाले सावन के महीने में सावन की प्रदोश शिवरात्रि 19 जुलाई को है। गोरखपुर शहर और आसपास से हजारों की तादाद में कांवड़िए बाबाधाम के अलावा आस-पास के शिवालयों में जल चढ़ाने जाते हैं। उनकी यात्रा की एक हफ्ते पहले से ही पुलिस प्रशासन की तैयारी शुरू हो जाती है। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के कारण कांवड़ यात्रा को न निकालने का फैसला सरकार ने लिया है। इसलिए पुलिस प्रशासन अब इसको रोकने को लेकर तैयारी में जुटा है।

पुलिस कर रही है अलर्ट बता रही नहीं हो पाएगी सोशल डिस्टेंसिंग

कांवड़ यात्रा में मंदिर में जलाभिषेक करने की परंपरा है। पुलिस का कहना है कि संक्रमण का खतरे देखते हुए श्रद्धालुओं से अपील है कि वे मंदिर के बजाय घर में ही जलाभिषेक करें। घर पर पूजापाठ करने से मंदिर में भीड़ नहीं जुटेगी। मंदिर में बड़ी संख्या में जलाभिषेक करने पर सामाजिक दूरी का पालन नहीं हो पाएगा। अपने घरों में स्थापित शिवलिंग पर जल चढ़ाकर विधिवत पूजा करें। यदि घर में शिवलिंग नहीं स्थापित है तो परमपिता परमेश्वर को याद करते हुए अंगुष्ठ से जलाभिषेक करें। कांवड़ यात्रा निकालने वालों से पुलिस घरों में रहकर पूजा करने की अपील कर रही है। साथ ही कांवड़ कमेटी और मंदिर समितियों के साथ बैठक करके कोरोना की गाइड लाइन से अवगत करा रही है। सभी कमेटियों की जिम्मेदारी तय की जा रही है। कमेटियों की मदद से मोहल्लों में पुलिस एनाउंसमेंट करा रही है। हर थाने की पुलिस बैठक करके जनता और धर्मगुरुओं की सहमति और सहयोग की अपील भी कर रही है।

गोरखपुर के इन मंदिरों पर होती है भीड़

महादेव झारखंडी शिव मंदिर, राजघाट मान सरोवर शिव मंदिर, मुक्तेश्वरनाथ मंदिर, रामलीला मैदान, गोरखनाथ मान सरोवर शिव मंदिर, मोटे शिव मंदिर पिपराइच, बेलीपार में भौवापार शिव मंदिर, भरोहिया शिव मंदिर स‌हित करीब पचास शिवालय हैं जहां लोगों की भारी भीड़ आम दिनों में होती है।

बोले एसएसपी

कोरोना संक्रमण को देखते हुए कांवड़ यात्रा निकालने पर रोक लगाई गई है। मंदिर में पूजापाठ के संबंध में गाइड लाइन जारी की गई है। सावन माह को देखते हुए कांवड़ समितियों और मंदिर पूजा समिति से सहयोग की अपील की जा रही है। इसको लेकर सभी की जिम्मेदारी तय की गई है। जनता के भी बीच जाकर पुलिस लोगों को जागरूक कर रही है।

- डॉ. सुनील गुप्ता, एसएसपी