DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश गोरखपुररिंग रोड-फोरलेन पर जमीन की रजिस्ट्री पर रोक

रिंग रोड-फोरलेन पर जमीन की रजिस्ट्री पर रोक

हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरNewswrap
Thu, 08 Jul 2021 05:11 AM
रिंग रोड-फोरलेन पर जमीन की रजिस्ट्री पर रोक

गोरखपुर। वरिष्ठ संवाददाता

गोरखपुर-सोनौली फोरलेन और जंगल कौड़िया-जगदीशपुर रिंग रोड के दोनों तरफ जमीन की खरीद फरोख्त को लेकर प्रॉपर्टी डीलरों के साथ कारोबारियों की सक्रियता बढ़ गई है। जमीन की खरीद को लेकर कैम्पियरगंज के साथ गोरखपुर के रजिस्ट्रार कार्यालय पर खूब भीड़ हो रही है। मुआवजे के खेल में जमीन की खरीद फरोख्त को सक्रिय दबंगों को देखते हुए रजिस्ट्रार कार्यालय कैम्पियरगंज ने जंगल कौड़िया से कैम्पियगंज तक फोरलेन के दोनों तरफ की जमीनों की रजिस्ट्री पर रोक लगा दी है।

एनएचएआई ने जंगल कौड़िया से सोनौली फोरलेन के लिए जमीन अधिग्रहण को लेकर नोटिफिकेशन निकाल दिया है। जिसमें पीपीगंज और कोल्हुई में बाईपास के लिए भी जमीन का अधिग्रहण होना है। भविष्य में जमीन की कीमतों में उछाल की उम्मीद देखते हुए प्रॉपर्टी डीलरों की सक्रियता बढ़ गई है। सिर्फ महीने भर में जमीन की कीमतों पर 4 से 8 गुना तक की बढ़ोत्तरी हो गई है। चंद महीने पहले जो जमीन एक लाख रुपये डिसमिल थी, उसकी कीमत 8 लाख रुपये तक पहुंच गई है। सर्वाधिक मारामारी जंगल कौड़िया से लेकर कैम्पियरगंज तक है। इस रोड पर व्यापारिक प्रतिष्ठान के साथ ही शो-रूम आदि की संभावना को देखते हुए लोग जमीन की खरीद फरोख्त कर रहे हैं।

रिंग रोड और आयुष यूनिवर्सिटी ने बढ़ाईं कीमतें

जंगल कौड़िया से जगदीशपुर तक करीब 25 किलोमीटर लंबे फोरलेन निर्माण को लेकर एनएचएआई द्वारा नामित फर्म द्वारा डीपीआर बनाई जा रही है। जिसे लेकर ड्रोन से सर्वे कर विभिन्न गांव में पिलर लगाए जा रहे हैं। पिलर को देखकर दबंग जमीन की खरीद फरोख्त कर रहे हैं। टिकरिया, बांसस्थान, मेडिकल रोड, पिपराइच और कुस्मही आदि इलाकों में जमीन की कीमतों में जबरदस्त उछाल आया है। बांसस्थान से भटहट रोड पर तरकुलहा के पास प्रस्तावित आयुष विश्वविद्यालय के आसपास भी जमीन की कीमतों में जबरदस्त उछाल आया है। 60 से 80 हजार रुपये डिसमिल में बिकने वाली जमीन की कीमतें 6 लाख पार कर गई हैं। इसी तरह देवरिया बाईपास पर प्रस्तावित वेटनरी कॉलेज के आसपास भी जमीन की कीमतें बढ़ी हैं। इसके साथ ही यहां रजिस्ट्री भी बढ़ी है।

बोले उपनिबंधक

कैम्पियरगंज तहसील क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित भू-खंडों की खरीद फरोख्त पर रोक लगा दी गयी है। भारत माला परियोजना के तहत उक्त भूखंडों को अधिग्रहित कर दिया गया है। ऐसे में प्रस्तावित फोरलेन के प्रस्तावित दायरे में खरीद फरोख्त रोक दी गई है।

- सुशील तिवारी, उपनिबन्धक, कैम्पियरगंज

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें