DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बर्डघाट रामलीला मैदान में जीवंत होगा त्रेता युग

बर्डघाट रामलीला मैदान में जल्द ही त्रेता युग जीवंत होगा। सिर्फ दशहरे के दौरान ही यहां का महौल उत्सवी नहीं दिखेगा बल्कि पूरे वर्ष वहां रामायण सा आध्यात्मिक माहौल तैयार रहेगा। लंका, अयोध्या आदि नाम से यहां स्थाई मंच बनेंगे। प्रवेश द्वारों को भव्य रूप देकर उनके नाम चित्रकूट, मिथिला आदि के नाम पर रखे जाएंगे। इन प्रवेश द्वारों पर नामकरण के अनुसार ही म्यूरल बनेंगे। 
 शासन ने पिछले दिनों राज्य के 10 प्राचीन व चर्चित रामलीला मैदानों को संरक्षित व सुंदर बनाने के लिए गाइड लाइन तय की थी। इसके तहत गोरखपुर से बर्डघाट के रामलीला मैदान का चयन हुआ है। इसके लिए जिला स्तर पर गठित टीम सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद पर्यटन विभाग को डीपीआर तैयार कराने के निर्देश दिए थे। चुनाव के चलते काम रुक गया था। अब कार्य संस्था  जल निगम की सीएंडडीएस ने डीपीआर तैयार करने का काम शुरू कर दिया है।

‘‘कार्यदायी संस्था ने डीपीआर तैयार करने का काम शुरू कर दिया है। इसके बाद यह रिपोर्ट शासन को भेजकर बजट मंजूर कराया जाएगा। बजट मिलते ही सुंदरीकरण का काम प्रारंभ हो जाएगा। ’’
-रवीन्द्र कुमार मिश्र, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी 

  मैदान को प्रवेश द्वार से ही आध्यात्मिक माहौल दिया जाना है। भव्य प्रदेश द्वार के नाम अयोध्या, चित्रकूट, मिथिला, जनकपुरी और पंचवटी आदि के नाम पर रखे जाएंगे। मैदान में रामलीला कलाकारों के लिए स्थायी मंच, चेंज रूम, टायलेट ब्लाक, पेयजल जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। मैदान की बाउंड्री पर दोनों ओर रामायण के प्रसंग से जुड़ी कहानियां व उन पर अधारित चित्र उकेरे जाएंगे। पूरे परिसर की कलात्मकता पर विशेष जोर रहेगा ताकि यहां आने पर माहौल त्रेता युग सरीखा लगे।

ऐसे सजेगा बर्डघाट रामलीला मैदान 
-छह से आठ फीट ऊंची बाउंड्री बनाई जाएगी
-प्रवेश द्वारों का नामकरण भगवान राम से जुड़े स्थलों के नाम पर होगा। 
-कलाकारों के लिए स्थायी मंच, ग्रीन रूम, स्टोर, टायलेट ब्लाक और पेयजल का इंतजाम होगा
-सुचारु विद्युत आपूर्ति के लिए ट्रांसफार्मर, हाईमास्ट लाइट का इंतजाम होगा। 

किराए की रकम से होगा मेंटिनेंस 
एक बार रामलीला मैदान को सजा-संवारने के बाद प्रशासन उसे शपथपत्र लेने के बाद रामलीला ट्रस्ट को सौंप देगा। उसके बाद उसके मेंटिनेंस की जिम्मेदारी ट्रस्ट की होगी। ट्रस्ट मैदान को निजी कार्यक्रमों के लिए किराए पर दे सकेगा और प्राप्त धनराशि से उसका मेंटिनेंस करेगा। मैदान के आसपास नाली निर्माण और सफाई का इंतजाम नगर निगम करेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:at Birdghat Ramlila Maidan Will be lively Treta era