DA Image
4 जून, 2020|7:10|IST

अगली स्टोरी

क्वारंटीन सेंटर में शराब पीने से रोका तो आशा व उसके पति को पीटा

क्वारंटीन सेंटर में शराब पीने से रोका तो आशा व उसके पति को पीटा

भटहट। हिन्दुस्तान संवाद पिपराइच थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत तुलसीदेई स्थित क्वारंटीन सेंटर में शराब पीने से मना करने पर आशा और उसके पति को युवकों ने बुरी तरह पीट दिया। आशा ने पुलिस से इसकी शिकायत की है। पुलिस जांच कर रही है। आशा कार्यकर्त्री सरिता चौरसिया का कहना है कि उसके गांव तुलसीदेई में स्थित प्राथमिक विद्यालय को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। 18 मई की रात आठ बजे वह अपने पति गोविंद के साथ सेंटर पर बाहर से आने वाले कामगारों की सूचना लेने पहुंची थी। वहां मुम्बई से आए कामगार गांव के चार अन्य युवकों के साथ बैठकर शराब पी रहे थे। आशा ने मना किया तो युवकों ने आशा व उसके पति की पिटाई कर दी। आशा ने ग्राम प्रधान के साथ ही डायल 112 पर सूचना दी। पुलिस जब तक पुलिस पहुंचती अन्य युवक फरार हो गए। आरोप है कि आशा के तहरीर देने के बावजूद पुलिसकर्मी हीला-हवाली करते रहे। कार्रवाई नहीं हुई तो शुक्रवार को आशा भटहट सीएचसी पहुंची। भटहट सीएचसी अधीक्षक डॉ. अश्वनी कुमार चौरसिया ने बताया कि आशा व उसके पति को आरोपी युवकों ने बुरी तरह से पीटा है। उनके खिलाफ कार्यवाही के लिए थाने के साथ ही डीएम, एसएसएपी और सीडीओ को पत्र भेजा गया है। कार्य बहिष्कार की चेतावनीआशा संगिनी पप्पी तिवारी का कहना है कि इससे पहले बरगदही में भी आशा के साथ दुर्व्यवहार किया गया था। आशा बहुओं के साथ आए दिन अभद्रता की घटनाएं हो रही हैं। तुलसीदेई में आरोपी युवकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो सभी आशा बहुएं कार्य बहिष्कार करेंगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Asha and her husband were beaten up when they stopped drinking alcohol at the Quarantine Center