DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

और झाड़-फूंक के चक्कर में गई मासूम की जान

कुशीनगर। हिन्दुस्तान टीम
कुशीनगर के खड्डा थाना क्षेत्र के ग्राम लखुआ लखुई में एक सात वर्षीय मासूम को विषैले सांप ने काट लिया था। लेकिन परिवारीजन उसकी झाड़-फूंक कराते रहे और मासूम की मौत हो गई। अंधविश्वास के फेर में पड़कर परिवारीजन बच्चे के जीवित करने के लिए उसे केले के डंठल में बांधकर नारायणी नदी में जलप्रवाह कर दिया।
           केले के डंठल से बांध सर्पदंश से मृत मासूम का नदी में किया जलप्रवाह
ग्राम लखुआ लखुई निवासी विरेन्द्र कुशवाहा के सात वर्षीय पुत्र अनूप को दो दिन पूर्व घर में ही किसी जहरीले सांप ने डंस लिया। लोगों के अनुसार परिवारीजन उसका इलाज कराने की बजाय कई जगहों पर उसका झाड़फूंक कराते रहे। झाड़फूंक के चक्कर में बुधवार की देर शाम बच्चे की मौत हो गई। परिवारीजन बच्चे का शरीर गरम देख व अंधविश्वास के चक्कर में उसे मृत नहीं मान रहे थे। बच्चे के जीवित होने की उम्मीद में उसे केले के डंठल से बांध नारायणी नदी में उसका जलप्रवाह कर दिया। परिवारीजनों को विश्वास था कि ऐसा करने से उनका बच्चा फिर जीवित होकर वापस आ जाएगा।
कुछ दिनों पूर्व खड्डा क्षेत्र के ग्राम रामपुर गोनहा के जंगल टोला निवासी एक व्यक्ति को सांप काटने के बाद परिवारीजन उसका झाड़फूंक करा रहे थे। लेकिन उसकी भी मौत हो गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:And the life of the innocent in the dizziness