DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैस एजेंसी संचालक की हत्या की गुत्थी अब तक अनसुलझी, घरवालों से ही सुराग मांग रही पुलिस

महराजगंज में गैस एजेंसी संचालक अमित हत्याकांड में कोठीभार व क्राइम ब्रांच की टीम अब तक सुराग नहीं ढूंढ़ पाई है। अमित की हत्या हुई है या फिर हादसे में जान गई, यह रहस्य अब भी बरकरार है। थक हारकर पुलिस परिजनों से ही खुलासे के लिए सुराग मांग रही है। कोठीभार क्षेत्र के लोहेपार गांव के पास 21 मई की दोपहर रजवल मदरहा गांव निवासी गैस एजेंसी मालिक अमित का शव मिला। पुलिस पिता अशोक कुमार की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर विवेचना शुरू की। सर्विलांस के सहारे अमित के मोबाइल कॉल डिटेल को खंगाली। पर पुलिस के मुताबिक घटना वाले दिन अमित के मोबाइल पर कोई बाहर से कॉल ही नहीं आई थी। एसपी आरपी सिंह, एएसपी व सीओ निलचौल परिजनों से पूछताछ कर चुके हैं। पुलिस का कहना है कि परिजन हत्या का आरोप लगाकर केस दर्ज कराएं हैं तो उन्हें यह बताना होगा कि वह कौन सी रंजिश या परिस्थितियां हैं जिनके कारण अमित की हत्या का अंदेशा जताया गया। मामले में एसपी आरपी सिंह कहते हैं कि अमित की मौत को हत्या मान कर छानबीन की जा रही है। सभी पहलुओं को खंगाला जा रहा है। परिजनों से भी कई बार वार्ता हो चुकी है, पर अभी तक कोई महत्वपूर्ण सुराग हाथ नहीं लगा है। जांच पूरी होने के बाद खुलासा कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Amit's murder is still mistry in Maharajganj