DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  गोरखपुर  ›  फिर अचूक रहा गोरखपुर पुलिस का निशाना

गोरखपुरफिर अचूक रहा गोरखपुर पुलिस का निशाना

हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:50 AM
फिर अचूक रहा गोरखपुर पुलिस का निशाना

गोरखपुर। वरिष्ठ संवाददाता

गोरखपुर पुलिस का एक बार फिर निशाना अचूक रहा। पुलिस पर फायरिंग कर भाग रहे एक हिस्ट्रीशीटर को गोरखपुर पुलिस ने अपने अचूक निशाने से पैर में गोली मारकर पकड़ लिया। 35 दिन पहले भी पुलिस ने कुछ इसी तरह से निशाना लगाया था जिसमें अनूप यादव नामक एक बदमाश के पैर में गोली लगी थी और वह भी पकड़ा गया था।

पुलिस के अचूक निशाने की वजह से बड़े बदमाश गोरखपुर पुलिस से पंगा नहीं ले रहे हैं। उन्हें पता है कि पुलिस की गोली उन्हें लंगड़ा बना सकती है। यही वजह है कि एक लाख के इनामी बदमाश सन्नी और राज ने भले ही तीन हत्याएं की थीं लेकिन जब पुलिस से उनका सामना हुआ तो उन्होंने पुलिस के सामने अपने हथियार डाल दिए और पुलिस ने आसानी से उन्हें दबोच लिया था।

शाहपुर इलाके के जानकीपुरम मोड़ के पास 27 अप्रैल की रात में पुलिस पुलिस ने अनूप नामक बदमाश को मुठभेड़ में गिरफ्तार किया था। पुलिस पर फायरिंग कर भाग रहे अनूप पर जब पुलिस की तरफ से जवाबी फायरिंग की गई तब पुलिस की गोली से वह घायल हो गए। पुलिस ने उसके पैर पर निशाना लगाकर गोली मारी थी। जिसके बाद वह भाग नहीं पाया था और पकड़ा गया था। हालांकि तब उसके दो साथी फरार हो गए थे। अनूप पर जिले के अलग-अलग थानों में 19 मुकदमे दर्ज थे। सोमवार को कैंट पुलिस के एनकाउंटर में घायल चंदन पर भी एक दर्जन मुकदमे था। वह कोतवाली थाने का हिस्ट्रीशीटर था। कोतवाली पुलिस को उसकी तलाश थी।

हनक कायम करने को एनकाउंटर

लॉकडाउन के बाद भी वर्तमान समय में घटनाएं बढ़ गई। चौबीस घंटे में लूट की दो घटनाएं हो गईं। वहीं तिवारीपुर इलाके में एक व्यक्ति पर जानलेवा हमला की घटना सामने आई। जब पुलिस का मुठभेड़ चल रहा था उस वक्त बेलीपार में एक 12 साल के बच्चे की हत्या हो गई थी वहीं बेलघाट में दो लोगों को गोली मारने की घटना सामने आ चुकी थी।

संबंधित खबरें