DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संतकबीरनगर में शुद्ध पेयजल मुहैया कराने का ये निकाला तरीका

संतकबीरनगर में खलीलाबाद शहर के नागरिकों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए नगर को तीन हिस्सों में बांट कर आपूर्ति होगी। इसके साथ ही तीन पानी की टंकियां बनाई जाएंगी। इसके लिए छह नलकूपों की स्थापना की जाएगी। लोगों के घरों तक पानी पहुंचाने के लिए सौ किमी पानी की पाइप लाइन भी बिछाई जाएगी। भविष्य की जरूरतों को देखते हुए उत्तर में बड़गो से लेकर दक्षिण में बनियाभारी तक पानी पहुंचाने का खाका तैयार किया गया है। 

बोर्ड की बैठक में नगरपालिका ने प्रस्ताव पास कर दिया है। विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर नगरपालिका ने जल निगम को सौंप दिया है। शहर में पानी की टंकी और नलकूल निर्माण के लिए जगह मुहैया कराने की जिम्मेदारी नगरपालिका की होगी। इसके लिए नपा बोर्ड ने 16 करोड़ 33 लाख 80 हजार रुपए का प्रस्ताव पास किया है। अब वित्तीय मंजूरी के लिए शासन में पत्रावलियां भेजी गई हैं। शासन से वित्तीय मंजूरी मिलते ही ट्यूबवेल और ओवर हेड टैंक की स्थापना का कार्य शुरू हो जाएगा। 

तीन भागों में बांटी गई हैं शहर की पेयजल व्यवस्था 
शहर की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था तीन हिस्सों में बांटी गई है। नगरपालिका ने जो प्रस्ताव तैयार किया है, उसके मुताबिक बाईपास से उत्तर की ओर प्रस्तावित नगर क्षेत्र के नागरिकों के लिए एक पानी की टंकी और एक पंप हाउस का निर्माण किया जाएगा। इसी से उस क्षेत्र में पानी की आपूर्ति की जाएगी। उत्तर क्षेत्र का पानी बाईपास के दक्षिण हिस्से की ओर नहीं आएगा। 

दूसरा पंप हाउस बाईपास और रेलवे के बीच में स्थापित किया जाएगा। इस क्षेत्र में तीन नलकूप स्थापित किए जाएंगे और दो ओवर हेड टैंक बनाया जाएगा। दो ओवर हेडटैंक के बीच में एक नलकूल रिजर्व रखा जाएगा। 

तीसरे जोन में रेलवे लाइन के किनारे से लेकर दक्षिण की ओर नगरपालिका सीमा तक के नागरिकों के लिए दो नलकूप और एक पानी की टंकी स्थापित की जाएगी। शहर की पेयजल व्यवस्था को तीन हिस्से में बांटने के पीछे न तो नेशनल हाईवे को खोदा जाएगा और न ही रेलवे से अनुमति लेने की झंझट होगी।

ईओ नगरपालिका बीना सिंह ने कहा कि भविष्य की आबादी और जरूरतों को देखते हुए यह प्रस्ताव तैयार किया गया है। इसी वर्ष जगह का चिन्हांकन करने के साथ निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा। अधिशाषी अभियंता जल निगम वीपी सिंह ने बताया कि नगरपालिका से जो प्रस्ताव आया है, बजट मिलते ही निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। इसके तहत शिरोपरि जलाशय क्षमता सात सौ किलो लीटर की होगी और लोगों के घरों तक पानी पहुंचाने के लिए सौ किमी तक पाइप लाइन बिछाई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Administration finds the solution of pure drinking water in Santkabirnagar