DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य वित्त और 14वें वित्त की धनराशि की नकद निकासी पर कार्रवाई तय

रांची में पंचायत का तुगलकी फरमान(प्रतीकात्मक तस्वीर)

ग्राम पंचायतों के विकास के लिए राज्य वित्त एवं 14वें वित्त की धनराशि के नकद निकासी पर प्रतिबंध है। बावजूद इसके कुछ ग्राम पंचायतों में नियम विरुद्ध नकद निकासी कर धनराशि का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसकी जानकारी मिलने पर जिला पंचायत राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर ने गुरुवार को सभी बैकों और एडीओ पंचायतों को चेताया है कि राज्य वित्त एवं 14वें वित्त की धनराशी की नकदी निकासी हुई तो कार्रवाई होगी। कहा कि मनरेगा मजदूरों को पारिश्रमिक का भुगतान उनके बैंक के खाते में किया जाए।  
जिला पंचायत राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर ने यह कदम चरगांवा ब्लाक के सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) की रिपोर्ट पर उठाया। सहायक विकास अधिकारी ने अपनी जांच में पाया कि भारतीय स्टेट बैंक की मेडिकल कालेज, झुगिंया बाजार शाखा से अधिकांश ग्राम पंचायतों द्वारा राज्य एवं 14वें वित्त की धनराशि की नकद निकासी की जा रही है। जबकि शासन का स्पष्ट निर्देश है कि प्रधान के मानदेय को छोड़ कर अन्य सभी भुगतान मनरेगा की भॉति सम्बन्धित फर्म को या श्रमिकों के बैंक खाते में ही किया जाना चहिए। ग्राम पंचायतों के लेखा परीक्षा के दौरान इसकी आपत्ति लेखा परीक्षक द्वारा भी लगाई गई है। 
संबंधित ग्राम पंचायतों पर हो सकती है कार्रवाई
नियम विरुद्ध राज्य व 14वें वित्त की धनराशि की नकद निकासी करने वाली ग्राम पंचायतों, बैंक और ग्राम सचिव के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। जनपद के सभी 19 विकास खण्डों में अधिकारियों को ऐसे मामले में नजर रखने के निर्देश दिए हैं। ताकि ग्राम पंचायतों के विकास के लिए आई धनराशि में भ्रष्टाचार न हो सके। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Action on cash withdrawal of funds of state finance and 14th Finance