ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गोरखपुर600 क्विंटल प्रतिबंधित पालिथीन जब्त

600 क्विंटल प्रतिबंधित पालिथीन जब्त

-नगर निगम के प्रवर्तन दल द्वारा पकड़ी गई प्रतिबंधित पालिथीन की कीमत एक करोड़ रुपये से अधिक 4 4 4 4 4 4 4 4 4 4 4 4 4 4 4 4...

600 क्विंटल प्रतिबंधित पालिथीन जब्त
default image
हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरFri, 21 Jun 2024 02:00 AM
ऐप पर पढ़ें

गोरखपुर, मुख्य संवाददाता।
स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत नगर निगम गोरखपुर प्रतिबंधित पॉलीथिन के विरुद्ध गुरुवार को बड़ी कामयाबी हासिल की। एक ही स्थान पर छापेमारी कर बाजार में उतरने से पूर्व 600 कुंतल प्रतिबंधित पॉलीथिन जब्त किया है। जब्त की गई इस पॉलीथिन की कीमत एक करोड़ रुपये से अधिक आंकी जा रही है।

नगर निगम के प्रवर्तन दल प्रभारी सेवानिवृत कर्नल डीके सिंह को इनपुट मिला कि साहबगंज मण्डी के व्यापारी राकेश गुप्ता के पास काफी बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित पॉलीथिन है। कई दिन से प्रवर्तन दल की टीम राकेश गुप्ता पर नजर रखे थी। इस दौरान पता चला कि राकेश का आवास तुर्कमानपुर बर्फखाना रोड पर है। तीन मंजिला आवास के बेसमेंट में सटीक सूचना पर प्रवर्तन दल ने छापेमारी की। यहां मकान के बेसमेंट से 30 से 35 किलोग्राम प्रतिबंधित पॉलीथिन के 2000 बैग मिले। यदि इन बैग का वजन 30 किलोग्राम ही आंका जाए तो 60 हजार किलोग्राम यानी 600 कुंतल प्रतिबंधित पॉलीथिन मिली।

मौके पर पहुंचे अपर नगर आयुक्त निरंकार सिंह की निगरानी में छापेमारी की कार्रवाई हुई। संबंधित क्षेत्र के सफाई निरीक्षक ने अपने सफाई कर्मचारियों के माध्यम से ट्रैक्टर ट्रॉली पर लोड कराकर पॉलीथिन जब्त कराया। यह कार्रवाई गुरुवार रात तक जारी रही। नगर आयुक्त गौरव सिंह सोगरवाल कहा कि पूरे पॉलीथिन का तौल करा कर जुर्माना लगाया जाएगा।

वाणिज्यकर विभाग की कार्रवाई पर सवाल

नगर निगम की जहां तारीफ हो रही वहीं, विभाग वाणिज्यकर पर इस बड़ी बरामदगी से सवाल खड़े हो रहे हैं। वाणिज्यकर विभाग का सचल एसआईबी सेक्टर अधिकारी को इसकी जानकारी क्यों नहीं हुई। बिना ई-वे-बिल के इतना बड़ी प्रतिबंधित पॉलीथिन की खेप कैसे और कहां से आई? ऐसे माल को पकड़ने की जिम्मेदारी वाणिज्यकर विभाग की भी है। आज तक इस विभाग ने एक भी प्लास्टिक नहीं पकड़ा है। 50000 रुपये से उपर के माल पर ई-वे-बिल अनिवार्य होता है। यहां करोड़ों की पॉलीथिन बिना किसी के नजर आए व्यापारी के गोदाम तक पहुंच गई।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।