DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › गोरखपुर › हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम : वनटांगिया गांव के पहले शिक्षक बने संतोष
गोरखपुर

हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम : वनटांगिया गांव के पहले शिक्षक बने संतोष

हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरPublished By: Newswrap
Tue, 03 Aug 2021 05:12 AM
हिन्दुस्तान पूर्वांचल समागम : वनटांगिया गांव के पहले शिक्षक बने संतोष

पूर्वांचल विकास के पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। शिक्षा-चिकित्सा और उद्यम के क्षेत्र में पूर्वांचल लगातार प्रगति कर रहा है। चार साल पहले तक पूर्वांचल की पहचान पिछड़े इलाके के रूप में होने लगी थी पर अब सड़कों का संजाल बिछ गया है। फोरलेन, लिंक-एक्सप्रेस-वे का निर्माण शुरू हुआ तो अंचल की रफ्तार भी तेजी से बढ़ने लगी है।

यूपी में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद वनटांगियां गांवों को राजस्व ग्राम का दर्ज मिला। यहां स्कूल, बिजली व सड़क आदि की सुविधाएं मिलने लगीं। शिक्षा का उजियारा भी फैलने लगा। लोग पढ़ाई के लिए बाहर निकलने लगे।

वनटांगिया गांव जंगल तिकोनिया निवासी संतोष कुमार निषाद वनटांगिया समाज के पहले युवा हैं जो शिक्षक बनने की राह पर हैं। पहले वनटांगिया गांव सरकारी योजनाओं से वंचित थे और बमुश्किल हाईस्कूल और इंटरमीडिएट पास करने के बाद यहां के लड़के-लड़कियां मजदूरी करने लगते थे। योगी ने सीएम बनने के बाद इन 23 वनग्रामों को राजस्व ग्राम का दर्जा दिया। अब यहां के युवक-युवतियां उच्च शिक्षा अर्जित करने लगे हैं।

संबंधित खबरें