DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिख-पंजाबी समाज के सम्मेलन में योगी का वादा 1984 के दंगा पीड़ितों को दिलाएंगे न्याय

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि 1984 में देश के अन्य हिस्सों के साथ ही यूपी में भी हुए दंगों में बेगुनाह सिखों का कत्लेआम हुआ था। सत्ता में आने के तुरंत बाद उन्होंने 1984 में कानपुर में हुए कत्लेआम की एसआईटी जांच के निर्देश दिए थे। सीएम ने कहा कि दंगों में मारे गए लोगों के परिजनों को न्याय दिलाया जाएगा। 
वादा
सिख व पंजाबी समाज के सम्मेलन में बोले सीएम योगी आदित्यनाथ
कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के बयानों की आलोचना की

सीएम रविवार को शिवालिक पब्लिक स्कूल में सिख समाज की बैठक को संबोधित कर रहे थे। योगी ने कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के बयान की आलोचना की। उन्होंने कहा कि सैम पित्रोदा कांग्रेस के लिए सिर्फ ‘सेम’ का ही विषय हैं। उनका यह कहना कि ‘जो हुआ सो हुआ’ बेहद शर्मनाक है। उन्होंने पंजाबी और सिख समाज से कहा कि चुनाव ने तकलीफ देने वालों को सबक सिखाने का अवसर दिया है। देश की सुरक्षा के लिए एक बार फिर भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में मतदान कीजिए। उन्होंने केंद्र एवं प्रदेश सरकार की योजनाओं के बारे में बताते हुए सपा-बसपा पर हमला बोला।


योगी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि उनकी कूटनीतिक और राजनीतिक समझ के कारण मुल्क आज वैश्विक मंच पर चमक रहा है। विश्व के सारे देश और विरोधी चीन भी भारत के साथ खड़ा होने को मजबूर है। सीएम ने सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा करते हुए कहा कि पाकिस्तान कभी परमाणु बम की धमकी देता था। प्रधानमंत्री मोदी का सख्त रुख देख पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को पसीना आने लगता है। उन्होंने कहा कि वैश्विक मंच पर देश के बढ़े कद को साबित करने के लिए वाराणसी में अप्रवासी भारतीय सम्मेलन कराया गया। 76 देशों के 7500 भारतीयों ने एक स्वर से स्वीकारा कि मोदी सरकार में विश्व में भारतीयों की प्रतिष्ठा बढ़ी है। कार्यक्रम का संचालन जगनैन सिंह नीटू ने किया। मंच पर मुख्यमंत्री के साथ सरदार निर्मल सिंह, जसपाल सिंह, कुलदीप सिंह अरोरा, सुभाष सूरी, सरदार सुरेंद्र, हरवंश कौर, सतपाल सिंह कोहली आदि मौजूद रहे। 
नेपाल न जाएं, मतदान कर दायित्व निभाएं
सीएम ने उपचुनाव में भाजपा की हार का दर्द भी साझा किया। उन्होंने कहा कि उपचुनाव के दिन 8000 वाहन गोरखपुर से नेपाल गए थे। हर वाहन में अगर 4 व्यक्ति भी सवार रहे हों तो 32 हजार लोगों ने लोकसभा उपचुनाव में हिस्सा नहीं लिया था। उन्होंने अपील की कि इस बार लोकतंत्र के महात्योहार पर अपनी भागीदारी अवश्य सुनिश्चित करें। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:1984 riots will bring justice to victims : Yogi