DA Image
30 नवंबर, 2020|1:50|IST

अगली स्टोरी

10 हजार परिवारों को अब मिलेगी बेहतर बिजली

10 हजार परिवारों को अब मिलेगी बेहतर बिजली

सिस्टम सुधार की योजना से खोराबार बिजली घर परिसर में नवनिर्मित 5 एमवीए बिजली घर से बिजली आपूर्ति गुरुवार की दोपहर में चालू हो गई। इससे तीन फीडरों के माध्यम से 10 हजार परिवारों को अब बेहतर बिजली मिलेगी। रामगढ फीडर से जुड़े इन उपभोक्ताओं को आए दिन लो-वोल्टेज व फाल्ट से बिजली संकट झेलना पड़ता था।

ऊर्जा निगम के चेयरमैन अरविंद कुमार ने 2019-20 में सिस्टम सुधार के लिए शहरी मण्डल को 11 करोड़ आवंटित किए थे। इसमें एबीसी केबल बिछाने के साथ शहर में तीन बिजली घरों की क्षमता वृद्धि कर नए बिजली घर बनाने थे। मुख्य अभियंता ने खोराबार उपकेन्द्र परिसर में क्षमता वृद्वि के पैसे से नया बिजली घर बनाने का प्रस्ताव भेजा था। इस प्रस्ताव पर स्वीकृति मिलने पर विद्युत माध्यमिक कार्यखण्ड ने खोराबार बिजली घर के भवन का विस्तार कर नया बिजली घर लाकडाउन में ही बनाकर तैयार कर दिया। इसके बाद 5 एमवीए ट्रांसफार्मर लगाया गया। लेकिन रामगढ़ फीडर को दो टुकड़ों में बांटने का काम आधा-अधूरा होने के कारण नए बिजली घर से आपूर्ति चालू नहीं हो सकी। रामगढ़0 फीडर को दो हिस्सों में बांटकर दो फीडर क्रमश: रामगढ़ व सूबा बाजार फीडर बनाया गया।

विद्युत माध्यमिक कार्यखण्ड के अधिशांसी अभियंता ई. एमके गौड़ ने बताया कि 40 लाख रुपये से खोराबार नया बिजलीघर बनाया गया है। परीक्षण कार्य के बाद वितरण खंड को बिजली घर से आपूर्ति शुरू करनी थी। गुरुवार को बिजली आपूर्ति चालू कर दी गई। इसतरह से खोराबार बिजली घर पर ओवरलोड की समस्या का निराकरण भी हो गया। क्षमता वृद्वि के बजट से नया बिजली घर भी बन गया। उससे बिजली आपूर्ति चालू होने से ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ताओं को काफी राहत मिल गई।

इन फीडरों से 10 हजार उपभोक्ता जुड़े है

रामगढ़ फीडर से करीब 10 हजार उपभोक्ताओं को बिजली मिलती थी। रामगढ़ फीडर के दो हिस्से में बंटने से अब फीडर छोटे हो गए। फाल्ट होने पर जल्दी ही उसे बनाया जा सकेगा। खोराबार बिजली घर से जुड़े उपभोक्ताओं को भी वोल्टेज की समस्या नहीं सताएगी। क्योंकि पुराने उपकेन्द्र से ओवरलोड की समस्या दूर हो गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:10 thousand families will now get better electricity