DA Image
19 जनवरी, 2020|7:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयु का वेद है आयुर्वेद : वैद्य पंडित आत्मा राम दुबे

default image

स्व. राम रहस्य महा विद्यालय सिंहपुर में भारतीय विज्ञान दिवस पर स्वास्थ्य रक्षण विज्ञान विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी हुईचौरी चौरा। विकास खंड ब्रह्मपुर के ग्राम पंचायत सिंहपुर स्थित स्व. राम रहस्य महाविद्यालय में शनिवार को ‘स्वास्थ्य रक्षण विज्ञान विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आयुर्वेद के प्रसिद्ध चिकित्सक पंडित आत्मा राम दुबे ने अपने संबोधन में कहा कि हमारे ॠषि-मुनियों ने आयुर्वेद को आयु का वेद बताया है। हम प्रकृति के हिसाब से रहकर हम अपने को लम्बे समय तक स्वस्थ रख सकते हैं । उन्होंने कहा कि मनुष्य को सूर्योदय से तीन घंटे तक भोजन से परहेज करना चाहिए। श्री दुबे ने लहसुन, सरसों तेल, हर्रे, हल्दी आदि प्राकृतिक औषधियों के महत्व पर प्रकाश डालते हुए इनके सेवन का तरीका भी बताया । उन्होंने दिनचर्या व निशचर्या पर भी विस्तृत चर्चा की। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि मंडलायुक्त वाणिज्यिक कर श्याम धर तिवारी ने योग साधना पर विस्तृत चर्चा की। प्राणायाम करने के तरीके भी बताए। वाराणसी से आए हुए स्वराज आश्रम के सनातनी रामानंद ने निरोग काया को जीवन का सबसे बड़ा सुख बताया । बीएचयू से आए हुए वैद्य डॉ. चंद्र भूषण ने कहा कि जीवन को स्वस्थ्य रखने के लिए हमें प्रकृति ने सब कुछ दिया है। संगोष्ठी को आचार्य हरि प्रसाद सिंह ने भी सम्बोधित किया । अतिथियों का स्वागत महा विद्यालय के प्रबंधक गिरीश राज त्रिपाठी तथा आभार महाविद्यालय के शिक्षक चक्रपाणि ओझा ने किया । कार्यक्रम का संचालन विजय कुमार यादव ने किया। इस अवसर पर मुख्य रूप से प्रद्युम्न द्विवेदी, राम सिंघासन तिवारी, कृष्ण कुमार तिवारी,मृत्युन्जय मिश्रा, प्रवेश कुमार श्रीवास्तव,वीरेन्द्र यादव,शैलेश तिवारी, वंदना जायसवाल, अर्चना राय, सपना मिश्रा,नम्रता,सोनाली,ब्र्र्जेश ,कविता,कुमकुम,सुशील तिवारी सहित तमाम लोग उपस्थित थे ।चित्र परिचय -चौरी चौरा : संगोष्ठी को संबोधित करते हुए वैध आत्मा राम दुबे ।