ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गोंडागला तर करने को पानी नहीं, यहां भरे जा रहे खेत

गला तर करने को पानी नहीं, यहां भरे जा रहे खेत

महीनों से टूटी पाइप लाइन से रास्ता बना दल-दल विभाग व ग्राम

गला तर करने को पानी नहीं, यहां भरे जा रहे खेत
हिन्दुस्तान टीम,गोंडाTue, 14 May 2024 06:30 PM
ऐप पर पढ़ें

महीनों से टूटी पाइप लाइन से रास्ता बना दल-दल

विभाग व ग्राम पंचायत के खेल में ग्रामीणों की मुश्किलें

गोण्डा, संवाददाता। गर्मी के चढ़ते पारे और तल्ख धूप के बीच लोगों को गला तर करने को पानी नहीं मिल पाता लेकिन यहां टंकियों की पानी से खेत भरे जा रहे हैं। लापरवाही इस कदर है कि महीनों से टूटी पाइप लाइन की शिकायत करते करते ग्रामीण थके जा रहे हैं लेकिन न विभाग सुन रहा है और न ग्राम पंचायतों के लोग। पूरा खड़ंजा रोजाना पानी निकलने से दल दल बन गया है, कोई भी चौपहिया वाहन गुजरने पर धंस जा रहा है। विभाग और ग्राम पंचायतों के खेल से यहां कई गांवों की आवागमन को लेकर मुश्किलें बढ़ी है।

मुख्यालय से सटे पड़रीकृपाल के सेमरा-शेखापुर गांव में हर घर जल योजना से संतृप्त कराया जा रहा है। यहां कई गांवों में पाइप लाइन बिछाई जा चुकी है। विभाग की ओर से यह भी दावा किया जा रहा है कि इस गांव को योजना से संतृप्त करके ग्राम पंचायत को हैंडओवर भी किया जा चुका है। वहीं यहां के ग्रामीणों ने बताया कि अधिकांश जगहों पर पाइप लाइन टूटी व खराबी होने से लोगों के घरों तक पानी पहुंच नहीं पा रहा है और उन्होने मौखिक और लिखित रुप से कई बार ब्लाक स्तर पर शिकायतें कर चुके हैं। लेकिन ब्लाक के अधिकारी मामला जल निगम को बताकर टाल दे रहे हैं, वो कहते हैं कि अब नए सिरे से निविदा कराने के बाद टूटी पाइप लाइन को दुरुस्त किया जाएगा। वहीं जल निगम के एक्सईएन धर्मेन्द्र कुमार का कहना है कि हैंडओवर के बाद योजना के तहत सुधार ग्राम पंचायतें कराती हैं, उनका सिर्फ तकनीकी सहयोग लिया जा सकता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।