Thursday, January 20, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश गोंडागोण्डर-ट्रिपल मर्डर : 12 टीमें, 12 दिन, पुलिस खाली हाथ

गोण्डर-ट्रिपल मर्डर : 12 टीमें, 12 दिन, पुलिस खाली हाथ

हिन्दुस्तान टीम,गोंडाNewswrap
Sun, 05 Dec 2021 06:05 PM
गोण्डर-ट्रिपल मर्डर : 12 टीमें, 12 दिन, पुलिस खाली हाथ

गोण्डा। प्रदीप तिवारी

नगर कोतवाली के शिवनगर में हुए तिहरे हत्याकाण्ड में पुलिस आरोपी की तलाश में दर-दर भटक रही है। पुलिस की 12 टीमें उन्नाव से नेपाल बार्डर तक की खाक छान रही है। यही नहीं बताया तो यह भी जाता है कि प्रदेश के बाहर भी कई टीमें आरोपी की तलाश में गईं लेकिन आरोपी हाथ नहीं लगा। अब घटना के 12 दिन बाद भी पुलिस खाली हाथ है। आरोपी को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा, यह तर्क देने के सिवाय पुलिस के पास और कोई तर्क नहीं है।

24 नवम्बर की देर शाम इमिलिया गुरुदयाल के शिवनगर में एक ही घर के चार लोगों पर धारदार हथियार से हमला कर दिया गया था। इस वारदात में पिता देवी प्रसाद, उनकी पत्नी पार्वती देवी और बेटी शिम्पा की मौकाए वारदात पर ही मौत हो गई थी। वहीं दूसरी बेटी उपासना गंभीर रूप से घायल थी जिसका इलाज आज भी मेडिकल कालेज लखनऊ में चल रहा है। वारदात के बाद से ही पुलिस कातिल की तलाश में जुटी हुई है। इस वारदात को अंजाम देने का आरोप रेलवे के गैंगमैन उन्नाव निवासी अशोक पर लगा था। आरोप लगने के बाद से ही पुलिस उसकी तलाश में कई जिलों के साथ ही दूसरे प्रदेशों मे खाक छान रही है। पुलिस ने अब तक उसके राजदार साथी गैंगमैन शत्रुघ्न व बहन अनीता को गिरफ्तार किया है। 12 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ कोई सटीक क्लू नहीं लग सका है जिससे वह आरोपी तक पहुंच सके। पुलिस गिरफ्तारी के लिए माथापच्ची कर रही है।

...तो अशोक ने हत्या ही नहीं भागने की भी जबरदस्त प्लानिंग की थी : 12 दिन बाद भी आरोपी अशोक के हाथ न लगने से ऐसा माना जा रहा है कि उसने हत्या ही नहीं हत्या के बाद भागने की भी जबरदस्त प्लानिंग कर ली थी। तभी तो 12 टीमें अब तक उसका सटीक सुराग नहीं लगा पाई है।

हत्या के बाद मौकाए वारदात से मिले कुछ सामान व जांच के दौरान सामने आए तथ्य के बाद पुलिस ने दावा किया था कि गैंगमैन आरोपी अशोक ने प्लानिंग कर हत्या की थी। हत्या के बाद वह शवों को जला देना भी चाहता था। एसपी संतोष कुमार मिश्रा ने दावा किया था कि आरोपी ने हत्या के लिए कुछ सामान आनलाइन भी मंगाया था। यही नहीं हत्या से पहले उसने लगभग छह लाख का पर्सनल लोन भी लिया था। जिसका उपयोग उसने हत्या करने में किया है। तब पुलिस उसे जल्द ही गिरफ्तार करने का दावा कर रही थी। हत्या के 12 दिन बाद भी पुलिस पकड़ में उसके न आने से ऐसा माना जा रहा है कि वारदात के बाद भागने की भी जबरदस्त प्लानिंग कर रखी थी। बताते हैं कि वह आगे-आगे भाग रहा है और पुलिस उसके पीछे-पीछे लगी है। पुलिस महकमे में भी इस बात की चर्चा है।

मेडिकल कालेज में भर्ती बेटी की हालत मे सुधार : इस वारदात में घायल बेटी उपासना की हालत में सुधार बताया जा रहा है। हालांकि वह अब भी मेडिकल कालेज में भर्ती है। उसका एक आपरेशन भी हुआ था। चिकित्सकों के अनुसार जल्द ही उसकी हालत में और सुधार होने की संभावना है।

-------

आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए कई टीमें लगी हुई हैं। लोकेशन के आधार पर पुलिस दबिश भी दे रही है लेकिन अब तक वह हाथ नहीं लगा है। विभिन्न जिलों में भी उसकी तलाश की जा रही है। उसके मददगारों पर भी पुलिस निगाह रख रही है। अब तक उसके राजदार व मददगार महिला समेत दो लोगों को पकड़ा भी जा चुका है। जल्द ही आरोपी भी पुलिस की गिरफ्त में होगा।

-शिवराज, अपर पुलिस अधीक्षक

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें