Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश गोंडागोण्डा-रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों के सामने पेयजल का संकट

गोण्डा-रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों के सामने पेयजल का संकट

हिन्दुस्तान टीम,गोंडाNewswrap
Wed, 07 Jul 2021 05:10 PM
गोण्डा-रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों के सामने पेयजल का संकट

गोण्डा।

रेलवे की ओर से विभिन्न ट्रेनों का परिचालन शुरु तो किया गया है, लेकिन भीषण गर्मी के मौसम में रेलवे स्टेशन की पेयजल टोटियों का हलक सूखा रहने से यात्रियों को पेयजल मयस्सर नहीं हो रहा और मजबूरन महंगे दामों पर पानी की बन्द बोतले खरीदकर प्यास बुझाने को मजबूर है।

रेलवे की ओर से अभी सभी ट्रेनों को नहीं चलाया गया है। रेलवे ने कोरोना काल में रद्द की गयी ट्रेनों को एक्सप्रेस स्पेशल के नाम से चलाया गया। पूर्व में संचालित पैसेन्जर ट्रेनों को रद्द किए जाने के बाद चलाया गया है, उनमें भी यात्रा के लिए यात्रियों को एक्सप्रेस ट्रेनों का किराया अदा करना पड़ रहा है। यात्रा कराने के साथ रेलवे के अधिकारियों ने यात्रियों की सुविधाओं पर ध्यान अभी पूरी तरह केंद्रित नहीं किया है। अधिकांश रेलवे स्टेशनों पर आईआरसीसीटी से मान्य बोतल बंद पेयजल की उपलब्धता नहीं है।

उधर यात्री ट्रेनों के स्टेशन पर ठहराव के दौरान रेलवे स्टेशन पर लगी पानी की टंकी से जुड़ी टोटियों से पानी की सप्लाई न किए जाने से यात्री बोतल बंद पानी खरीदकर पीने को मजबूर हो रहे हैं। रेलनीर की बोतलों को वैंडर ठंडा ही नहीं करते हैं। यात्री के ठंडी बोतल मांगने पर उसे महंगे दामों पर लोकल पानी की बोतले पकड़ा दी जा रही हैं। भीषण गर्मी में पेयजल टंकी से सप्लाई बंद कर दी जाती है। इससे प्लेटफार्म पर लगा पेयजल की टोटियों के हलक सूख जाते हैं। दौड़ कर चलती ट्रेन में चढ़ने के दौरान दुर्घटना की आशंका भी रहती हे। टंकी से ट्रेनों के आने के समय सप्लाई बंद करने के पीछे बोतल बंद पानी की बिक्री बढ़ाए जाने की ही खेल भी हो सकता है। रेलवे अधिकारी का कहना है कि रेलवे स्टेशनों पर केवल रेलनीर को ही बेचने की अनुमति है। रेलनीर के अलावा कोई दूसरा ब्राण्ड का पानी नहीं बिकने दिया जाएगा। यदि कोई बेचता हुआ पाया जाता है तो कार्रवाई की जाएगी।

epaper

संबंधित खबरें