ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश गोंडाकान्हा के जन्म पर झूमे श्रद्धालु, कथा मंडप बना गोकुल

कान्हा के जन्म पर झूमे श्रद्धालु, कथा मंडप बना गोकुल

नवाबगंज, संवाददाता। कस्बे के कालीकुंड मंदिर परिसर में चल रही श्रीमद् भागवत

कान्हा के जन्म पर झूमे श्रद्धालु, कथा मंडप बना गोकुल
हिन्दुस्तान टीम,गोंडाTue, 14 May 2024 06:30 PM
ऐप पर पढ़ें

नवाबगंज, संवाददाता। कस्बे के कालीकुंड मंदिर परिसर में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में सोमवार के रात कथा व्यास पं मधुर गोपाल दास ने भगवान की कृपा से ध्रुव को लोक तथा प्रह्लाद चरित्र में खंभे से नरसिंह भगवान प्रगट होकर हिरणाकश्यप का उद्धार की कथा का वर्णन किया। इसके बाद भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव को बहुत ही धूम धाम से मनाया गया।

कथा के दौरान जैसे भगवान का जन्म हुआ तो पूरा पंडाल नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की के जयकारों से गूंज उठा। इस दौरान भारी संख्या में पंडाल में मौजूद महिलाएं, युवतियां और पुरुष श्रद्धालु झूमने-नाचने लगे। इस दौरान सजाई गई कृष्ण जन्म की झांकी आकर्षण का केंद्र रही। कथा पंडाल गोकुल धाम लग रहा था लोग आनंद में झूम रहे थे। कथा व्यास ने कहा कि कलयुग में भागवत की कथा सुनने मात्र से हर प्राणी को मोक्ष की प्राप्ति होती है। उन्होंने कहा कि भागवत कथा एक ऐसी कथा है जिसे ग्रहण करने मात्र से ही मन को शांति मिलती है। कथा व्यास ने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा सुनने से अहंकार का नाश होता है। जब धरती पर चारों ओर त्राहि-त्राहि मच गई, चारों ओर अत्याचार, अनाचार का साम्राज्य फैल गया तब भगवान श्रीकृष्ण ने देवकी के आठवें गर्भ के रूप में जन्म लेकर कंस का संहार किया। इस अवसर पर उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण की विभिन्न बाल लीलाओं का वर्णन भी किया किया। इस दौरान कथा के तीरावती पत्नी ओंकारनाथ तिवारी, पुष्पा तिवारी पत्नी शेर बहादुर तिवारी, रूपम पत्नी प्रकाश नारायण तिवारी, सावित्री देवी पत्नी प्रह्लाद पटवा, सुमन मद्धेशिया पत्नी उमेश मद्धेशिया समेत सैकड़ों कथा प्रेमी मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें