DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किशोर की मौत पर फूटा ग्रामीणों का गुस्सा

नोनहरा थाना क्षेत्र के महमूदपुर गांव के पास पांच दिन पूर्व सड़क हादसे में घायल हुए किशोर की शनिवार को वाराणसी में हुई मौत के बाद ग्रामीणों ने जबरदस्त हंगामा किया।

आक्रोशित ग्रामीणों ने करीब ढाई घंटे तक चक्काजाम कर एसओ नोनहरा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सूचना के बाद एसडीएम सदर विनय गुप्ता समेत सीओ कासिमाबाद कृष्णकांत सरोज चार थानों की पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। एसडीएम के आश्वासन पर जाम समाप्त हुआ। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

महमूदपुर गांव निवासी 14 वर्षीय अनिल राजभर पुत्र भोला राजभर पांच दिन पूर्व गांव के चट्टी पर कोई सामान खरीदने गया था। इस दौरान नोनहरा की ओर से आ रही तेज रफ्तार कार ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। हादसे के बाद कार चालक वाहन समेत मौके से फरार हो गये। मौके पर मौजूद लोगों ने कार चालक को पहचान लिया। घायल किशोर को इलाज के लिए वाराणसी में भर्ती कराया गया था, जहां शनिवार की अलसुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। किशोर के मौत की खबर मिलने के बाद ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने महमूदपुर समेत अख्यिारपुर व आरीपुर मोड़ पर चक्काजाम कर दिया। जाम सुबह करीब दस बजे से शुरू हुआ। इस दौरान ग्रामीण लगातार एसओ नोनहरा के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। 

सूचना मिलने के बाद एसडीएम सदर विनय गुप्ता समेत सीओ कासिमाबाद मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने एसडीएम को बताया कि घटना के दिन ही थाने में तहरीर देकर एसओ को बताया गया था कि अमुक व्यक्ति की गाड़ी से किशोर घायल हुआ है, लेकिन एसओ ने कोई कार्रवाई नहीं की। पूरा मामला समझाने के बाद एसडीएम ने आश्वासन दिया कि वह मृतक के परिजनों को सरकारी मुआवजा दिलाने के साथ ही वाहन स्वामी और उसके चालक के खिलाफ कार्रवाई करायेंगे। इसके बाद दोपहर करीब साढे बारह बजे जाम समाप्त हुआ। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:villagers anger over death of teenager