DA Image
2 मार्च, 2021|3:44|IST

अगली स्टोरी

गाजीपुर में किसानों के आंदोलन और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में प्रशासन और पुलिस अलर्ट है। पुलिस ने विपक्षी नेताओं के अलावा गांव गांव ट्रैक्टर मालिकों और चालकों को पाबंद करना शुरू कर दिया है।

गाजीपुर में किसानों के आंदोलन और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में प्रशासन और पुलिस अलर्ट है। पुलिस ने विपक्षी नेताओं के अलावा गांव गांव ट्रैक्टर मालिकों और चालकों को पाबंद करना शुरू कर दिया है।

1 / 2गाजीपुर में किसानों के आंदोलन और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में प्रशासन और पुलिस अलर्ट है। पुलिस ने विपक्षी नेताओं के अलावा गांव गांव...

गाजीपुर में किसानों के आंदोलन और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में प्रशासन और पुलिस अलर्ट है। पुलिस ने विपक्षी नेताओं के अलावा गांव गांव ट्रैक्टर मालिकों और चालकों को पाबंद करना शुरू कर दिया है।

2 / 2गाजीपुर में किसानों के आंदोलन और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में प्रशासन और पुलिस अलर्ट है। पुलिस ने विपक्षी नेताओं के अलावा गांव गांव...

PreviousNext

गाजीपुर। वरिष्ठ संवाददाता

गाजीपुर में किसानों के आंदोलन और केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में प्रशासन और पुलिस अलर्ट है। पुलिस ने विपक्षी नेताओं के अलावा गांव गांव ट्रैक्टर मालिकों और चालकों को पाबंद करना शुरू कर दिया है। उन्हें नोटिस देकर 25 और 26 में कहीं भी मूवमेंट नहीं करने के लिए बांड भरवा रहे हैं। सुहवल एसओ ने किसानों को डीजल नहीं देने का आदेश पेट्रेाल पंपों पर चस्पा करवा दिया।

किसान आंदोलन के समर्थन में गाजीपुर में होने वाली किसान ट्रैक्टर रैली रोकने के लिए पुलिस सख्त हो गई है। सुहवल पुलिस ने पेट्रोल पंपों को ट्रैक्‍टर और बोतल में तेल देने से मना कर दिया। थानाध्यक्ष सुहवल की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि आगामी 26 जनवरी को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश में हाई अलर्ट जारी किया गया है। धारा 144 प्रभावी है। किसानों द्वारा विभिन्न स्थानों पर ट्रैक्टर मार्च व अन्य कार्यक्रम किए जाने की संभावना है। जिसके कारण ट्रैक्टर पर आवागमन पर पाबंदी लगाई जाती है।

वहीं सैदपुर थाना क्षेत्र के एक पेट्रोल पंप पर थानाध्‍यक्ष का हवाला देते हुए नोटिस भी चिपका दी गई है। इस नोटिस के अनुसार यहां पर ट्रैक्‍टरों और बोतल में तेल न देने के लिए सैदपुर थानाध्‍यक्ष की ओर से मनाही है। इसके अलावा शहर कोतवाली से लेकर देहात तक 20 थानों में किसानों को शनिवार को नोटिस देकर प्रतिबंधित किया गया।

--

ट्रैक्टर संचालकों के खिलाफ कार्रवाई से हड़कंप

जखनिया। सपा समेत विपक्ष ने किसान संगठनों ने गांव से ट्रैक्टर परेड में शामिल होने का आह्वान किया है। इसी के चलते किसानों के बीच सपा नेताओं का संपर्क भी बढ़ गया है। किसान आंदोलन को देखते हुए प्रशासन ने ट्रैक्टर संचालकों सहित ट्रैक्टर मालिकों के खिलाफ अभियान चलाकर नोटिस तालीम कराए। सभी लोगों को 149 सीआरपीसी की नोटिस देते हुए हिदायत दी गई कि वह 26 तारीख तक अपने ट्रैक्टर अपने घर रखेंगे। बताया कि प्रशासन को आशंका है कि ट्रैक्टर यात्रा निकालकर किसान विरोध एवं धरना प्रदर्शन के कार्यक्रम में सम्मिलित होने से कानून व्यवस्था बिगड़ेगी। भुड़कुड़ा कोतवाल अनुराग कुमार ने बताया कि यह उच्चाधिकारियों के आदेश पर किया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:There are administration and police alerts in Ghazipur against the farmers 39 agitation and the agricultural laws of the central government Police have also started blocking village tractor owners and drivers besides opposition leaders