DA Image
9 अगस्त, 2020|1:26|IST

अगली स्टोरी

कोविड-19 के प्रबंधन में सिंह लाइफ केयर फेल

कोविड-19 के प्रबंधन में सिंह लाइफ केयर फेल

गाजीपुर। हिन्दुस्तान संवाद

कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत लाकडाउन का अनुपालन, भरण पोषण विहीन परिवारों को भूखमरी से बचायें रखने के लिए राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है। जनपद में कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों के उपचार के लिए जनपद में अस्पतालों को चिहिन्त किया गया है। शुक्रवार को ओम प्रकाश आर्य के निर्देशन के बाद मुख्य चिकित्साधिकारी उपजिलाधिकारी सदर, कासिमाबाद, जिला पंचायत राज अधिकारी, खंड विकास अधिकारी मरदह व बिरनों ने निजी चिकित्सालयों का औचक निरीक्षण किया। इसमें सिंह लाईफ केयर हास्पिटल जमानियां मोड़ में एनआरसी के गाइड लाइन के अनुसार साफ-सफाई सेनेटाइजेशन आदि कार्य नही किया जा रहा है। इसके कुल 10 वार्डो, सीटीस्कैन, ब्लड बैंक, ड्रेसिंग रुम का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय हास्पिटल में इलाज कराने के लिए आए कुछ मरीजो द्वारा मास्क का प्रयोग नही किया गया था। हास्पिटल के गेट पर आने वाले मरीजों को सेनेटाइज करने तथा गेट पर ब्लीचिंग पाउडर का घोल बनाकर अथवा हाईड्रोक्लोराइड में भिगाकर चिट्ट आदि रखे जाने की कोई व्यवस्था नही की गई थी। हास्पिटल के बाहर साफ-सफाई का अभाव पाया गया। हास्पिटल में प्रयोग में आने वाले वेसिन के पास लिक्विड सोप नहीं पाया गया। इसपर प्रबंधक को आने वाले मरीजो को लिक्विड सोप से हाथ धुलवाने की हिदायत दी गई। हास्पिटल में कार्यरत सभी डाक्टरर्स, पैरामेडिकल स्टाफ बराबर मास्क, ग्लब्स आदि का प्रयोग करें। सोशल डिस्टेन्सिग का अनुपालन करें। साफ-सफाई पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाय। मुख्य चिकित्साधिकारी ने सिंह लाईफ केयर हास्पिटल के प्रबंधक राजेश कुमार सिंह को निर्देश दिया गया कि कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु शासन स्तर से निर्गत गाइड लाइंस के अनुसार लाकडाउन का अनुपालन, साफ-सफाई, सेनेटाइजेशन व मास्क का नियमित रूप से प्रयोग किया जाय। यदि इसमें किसी प्रकार की लापरवाही के कारण कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने का प्रकरण प्रकाश में आता है। तो उसके लिए संबंधित को दोषी मानते हुए नियमानुसार विधिक कार्यवाही की जाएगी।दूसरे प्रदेश से आने के लिए करें आनलाइन आवेदनगाजीपुर। कोरोना महामारी से देश में चल रहे लॉक डाउन के कारण देश की गति रुक गई है। पूरे देश में उद्योग ध्ंाधे बंद पड़े हुए है। ऐसे में जनपद के नागरिक अन्य प्रदेशों में फंसे हुए है। जिला सूचना विज्ञान अधिकारी अखिलेश जायसवाल ने बताया कि दूसरे प्रदेशों में फसें हुए नगागिकों में से जो जनपद में आना चाहता है। उनकी सुविधा के लिए गाजीपुरएनआईसी पर आनलाइन आवेदन की सुविधा प्रारंभ कर दी गई है। इस लिंक पर जाकर दिए गए लिंक पर प्रदेशों की सूची प्रदर्शित होगी। उसमें से संबंधित प्रदेश का चयन करते हुए आनलाईन फार्म पर आवश्यक सूचनाएं भरकर सबमिट करेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Singh life care fails under the management of Kovid-19