अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्राम प्रधान ने डीएम से की शिक्षकों की शिकायत

गाजीपुर जिले के परिषदीय विद्यालयों में कुछ ऐसे शिक्षक हैं जो बार बार चेतावनी देने के बाद भी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। वह कभी भी समय से विद्यालय पहुंचते नहीं हैं। इस तरह के एक मामले को लेकर ब्लाक के राजापुर कला गांव के ग्राम प्रधान राजेंद्र यादव ने डीएम से फोन पर शिकायत किया तो डीएम ने तत्काल एसडीएम को जांच करके रिपोर्ट देने को कहा। मौके पर पहुंचे एसडीएम ने देखा कि प्राथमिक और जूनियर दोनों में अध्यापक विलंब से पहुंच रहे हैं। आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों की अधिक संख्या दिखाई गई है। इस मामले में एसडीएम ने अपनी रिपोर्ट डीएम को भेज दी है।

ब्लाक के राजापुर कला गांव में एक जूनियर एक प्राथमिक विद्यालय संचालित हो रहा है। प्राथमिक विद्यालय में 140 बच्चों के सापेक्ष तीन शिक्षक और जूनियर हाईस्कूल में बीस बच्चों पर दो अध्यापकों की तैनाती की गई है। ग्राम प्रधान से जुड़े लोगों का कहना  है कि शिक्षकों की लापरवाही से पठन पाठन हमेशा प्रभावित रहता है। इसकी शिकायत करने के बाद भी खंड शिक्षा अधिकारी और विभाग के जनपद स्तरीय अधिकारी इस पर ध्यान नहीं देते हैं। जिससे बच्चों का भविष्य खराब हो रही है। इस तरह की शिकायत से परेशान ग्राम प्रधान राजेंद्र यादव ने इसकी जानकारी पहले खंड शिक्षा अधिकारी को दी जब खंड शिक्षा अधिकारी ने कोई कार्रवाई नहीं की तो उन्होंने बीएसए और डीएम को भी फोन बीते मंगलवार को घुमा दिया।

प्रधान ने डीएम से कहा कि शिक्षक समय से आते नहीं है। जिससे बच्चों का भविष्य चौपट हो रहा है। इस पर ध्यान दिया जाए। इसके बाद डीएम ने तत्काल एसडीएम कासिमाबाद भवानीदीन को मौके पर भेजा। मौके पर जाने के बाद देखा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्री स्कूल पर पहुंच रही थी करीब काफी संख्या में बच्चों की उपस्थिति रजिस्टर में दर्ज कराया था लेकिन मौके पर बच्चे एक दर्जन से भी कम रहे। प्राइमरी एवं जूनियर के अध्यापक भी मौके पर दो गायब मिले। बच्चों के शैक्षणिक स्तर काफी कमजोर रहा। इससे नाराज होकर एसडीएम ने शिक्षकों के कार्यों के प्रति नाराजगी जाहिर की और चेताया कि भविष्य में ऐसी गलती हुई तो सीधे कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद उन्होंने अपनी रिपोर्ट डीएम को भेज दी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pradhan complains of teachers from DM