DA Image
2 जनवरी, 2021|8:17|IST

अगली स्टोरी

मठ व मंदिरों में दर्शन-पूजन कर मंगलमय होने की लोगों ने की कामना

मठ व मंदिरों में दर्शन-पूजन कर मंगलमय होने की लोगों ने की कामना

1 / 2गाजीपुर। वरिष्ठ संवाददाता 2020 को अलविदा और 2021 का स्वागत लहुरीकाशी ने अपने...

मठ व मंदिरों में दर्शन-पूजन कर मंगलमय होने की लोगों ने की कामना

2 / 2गाजीपुर। वरिष्ठ संवाददाता 2020 को अलविदा और 2021 का स्वागत लहुरीकाशी ने अपने...

PreviousNext

गाजीपुर। वरिष्ठ संवाददाता

2020 को अलविदा और 2021 का स्वागत लहुरीकाशी ने अपने अंदाज में किया। 31 दिसंबर की रात को जैसे ही घड़ी की सुईओं ने 12 बजे को छुआ। वैसे ही पूरे शहर में आतिशबाजी और पटाखों की गूंज के साथ नए साल का स्वागत शुरू हो गया। 01 जनवरी के स्वागत में कही पटाखे छूटे तो किसी ने आतिशबाजी की लड़ियां लगा दी। धर्माचार्यों ने शंखनाद के साथ नए साल के आगमन का संदेश दिया। वहीं होटल रेस्टोरेंट में उत्साही कदमों ने थिरकते हुए दोस्तों के साथ जश्न मनाया। सुबह हुई तो शुक्रवार को जिले में नए वर्ष की धूम मची रही। लोगों ने अपने-अपने तरीके से मौज-मस्ती की। एक तरफ जहां लोग लार्ड कार्नवालिस पार्क और रेत पर पहुंचे, वहीं सैकड़ों लोग परिवार के साथ मनपसंद जगह पहुंचे। गंगा से लेकर होटलों और रेस्टोरेंट में शानदार लोगों का अंदाज दिखा। डीएम एमपी सिंह समेत एसपी और एसपी सिटी ने सभी को नए वर्ष की शुभकामनाएं दी।

गाजीपुर ही नहीं समूचे देश में 2020 के दर्द को याद कर विदाई दी तो 2021 का उम्मीदों के संग स्वागत किया गया। अब नए साल से नई उम्मीदें हैं कि कोरोना से बिगड़े हालतों को सामान्य कर देगा। गाजीपुर में आतिशबाजी और पटाखों की गूंज के साथ नए साल का स्वागत शुरू किया गया। आतिशबाजी से रंगीन रात और रंगबिरंगी रोशनियों से घर और गाजीपुर के सरकारी संस्थान जगमगाते नजर आए। अलविदा 2020 कहते ही नए साल 2021 के स्‍वागत और जश्‍न का दौर शुरू हो गया है। जगह-जगह मस्‍ती की फुहार बरस रही थी तो रंगीनियों से सराबोर होकर लोग सड़क, होटल, पार्क में जमकर इंज्‍वाय कर रहे हैं। युवा संगीत की सुमधुर स्‍वर लहरियों पर कमरतोड़ डांस करते नजर आए तो जमकर मस्ती का दौर चला। नौजवानों के थिरकते पांव नव वर्ष में नई उम्‍मीदों के साथ सबकुछ अच्‍छा होने की शुभकामनाएं एक-दूसरे को दे रहे हैं। बधाइयों का सिलसिला अनवरत चल पड़ा है।

गाजीपुर में शहर से लेकर देहात तक लोगों ने कोरोना काल की सावधानियों के बीच नए साल का जश्न मनाया। सबके बावजूद लोग अपनी घरों में ही साल 2020 के गम को भुलाकर नए साल के स्वागत में शरीक हुए। बड़ी संख्या में लोगों ने अपने-अपने तरीके से नए साल का स्वागत किया। रात से लेकर सुबह तक लोग नए साल के जश्न में बड़ी संख्या में लोग शरीक हुए। शहर के पार्क में लोग नए साल का खास स्वागत करते दिखाई दिए। डीएम एमपी सिंह के यहां सुबह से बधाई देने वाले लोगों की भीड़ नजर आई। लोगों ने जिले में कानून व्यवस्था सुदृढ करने और नए आयाम गठित करने की कामना की।

गाजीपुर के सैदपुर, सिधौना, खानपुर, देवकली, नंदगंज, सादात, जखनियां, भुड़कुडा, शादियाबाद, बहरियाबाद, हंसराजपुर, बिरनो, दुल्लहपुर, मरदह, कासिमाबाद, बहादुरगंज में अलग ही उत्साह दिखा। जंगीपुर, मुहम्मदाबाद, भांवरकोल, करीमुददीनपुर, पतार, नोनहारा, कठवामोड, रेवतीपुर, गहमर, सेवराई, भदौरा, जमानियां, दिलदारनगर, देवल में पूजा पाठ का दौर चला। करंडा, नंदंगज, रामपुर माझा, समेत कईजगहों पर भी हर्षेाल्लास दिखा।

नव वर्ष पर लोगों ने इसे यादगार बनाने के साथ ही मठ-मंदिरों में पहुंचकर अपने व परिवार के मंगलमय होने की कामना की। वहीं जगह-जगह युवाओं का पिकनिक मनाने का दौर भी चलता रहा। साउंड सिस्टम पर युवक-युवितयां थिरकते रहे। गहमर स्थित मां कामाख्या धाम, बाबा कीनाराम मठ देवल पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु मत्था टेकने के लिए पहुंचे। नए वर्ष को मंगलमय बनाने के लिए दरबार में आशीर्वाद लिया। स्थानीय क्षेत्र के सुरहा, देवल, अमौरा, बकसडा, भदौरा, बरेजी, मिश्रवलिया आदि गांव के लोग नए वर्ष पर खलिहान व नदी के किनारे पहुंचकर पिकनिक मनाकर नये वर्ष का आनंद उठाया और एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई भी दी गयी।

-

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People wished to see people in monasteries and temples