Monday, January 24, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश गाजीपुरकृषक एक्सप्रेस के शॉर्ट टर्मिनेशन से यात्रियों में आक्रोश

कृषक एक्सप्रेस के शॉर्ट टर्मिनेशन से यात्रियों में आक्रोश

हिन्दुस्तान टीम,गाजीपुरNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 03:13 AM
कृषक एक्सप्रेस के शॉर्ट टर्मिनेशन से यात्रियों में आक्रोश

सादात/जखनियां। हिटी.

पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा कृषक एक्सप्रेस को शार्ट टर्मिनेट करने का फरमान जारी किया तो यात्रियों में आक्रोश नजर आने लगा। लखनऊ से चलकर गोरखपुर, मऊ होते हुए वाराणसी सिटी तक जाने वाली 15007-08 कृषक एक्सप्रेस का परिचालन पहली दिसंबर से 28 फरवरी तक मऊ से वाराणसी के बीच बंद करने का निर्णय लिया गया है। इसका कारण कोहरा बताया जा रहा है। रेलवे प्रशासन द्वारा जारी सूचना के अनुसार कृषक एक्सप्रेस का परिचालन अब लखनऊ से मऊ तक ही रह जाएगा। इसे लेकर ऑल इंडिया रेल यूजर्स फेडरेशन की तरफ से पूर्वोत्तर रेलवे के प्रबन्धक और महाप्रबंधक से लगायत रेल मंत्रालय को पत्र भेजकर उक्त ट्रेन का संचालन पूर्व की भांति लखनऊ से वाराणसी के मध्य जारी रखने की मांग की गई है।

गाजीपुर ही नहीं मऊ के बाद दुल्लहपुर, जखनियां, सादात, माहपुर, औड़िहार स्टेशन से प्रतिदिन हजारों की संख्या में यात्री इस ट्रेन को पकड़कर वाराणसी तक कि यात्रा करते हैं। दैनिक यात्रियों व रेल कर्मचारियों के लिहाज से यह ट्रेन काफी महत्वपूर्ण है। यह ट्रेन मऊ से वाराणसी तक बीच दुपहरी में जाती है और शाम को 5:00 बजे वाराणसी से चलकर मऊ आती है। ऐसे में इस ट्रेन पर कोहरे का कब और कहां कितना असर पड़ेगा, यह जनता की समझ से परे है। इस ट्रेन को पकड़कर मऊ से वाराणसी तक की यात्रा करने वालों की काफी अधिक संख्या है, जिनकी सुगम यात्रा को इस ट्रेन को मऊ से ही वापस करने के निर्णय से दुर्गम बनाने का कार्य किया जा रहा है। गत वर्ष भी रेलवे प्रशासन द्वारा इस ट्रेन को इसी प्रकार शॉर्ट टर्मिनेट किया गया था, जिसे भाजपा नेता शिवानन्द सिंह मुन्ना, पूर्व जिला पंचायत सदस्य अनिल कुमार पांडेय, डा. त्रिवेणी सिंह समेत दर्जनों लोगों ने कड़ा विरोध दर्ज कराते हुए रेलवे द्वारा महज दो दिन के अंदर ही निर्णय वापस लेने को बाध्य कर दिया था। पुनः मऊ से वाराणसी के मध्य ट्रेन के बंद करने की सूचना आने से यात्री परेशान हैं।

पत्र के माध्यम से पूर्वोत्तर रेलवे के इस फरमान के खिलाफ रोष जताया गया है। दैनिक यात्री डा. त्रिवेणी सिंह, राजेश यादव, अनिल गुप्ता, सनी वर्मा, अजय वर्मा, अनिल चौबे, अंजनी कुमार जायसवाल, मनोज सेठ, बच्चा पांडेय, आकाश, संजय समेत यात्रियों ने चेतावनी दी है कि अधिकारियों द्वारा तत्काल निर्णय बदलते हुए इस ट्रेन का परिचालन पूर्ववत जारी रखने का आदेश नहीं दिया गया तो जनहित को ध्यान में रखते हुए आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ेगा। इसकी सारी जिम्मेदारी रेलवे प्रशासन की होगी।

epaper

संबंधित खबरें