Mahesh of Ghazipur Martyr in Kashmir at Anantnag - गाजीपुर के महेश की शहादत से गांव स्तब्ध, परिवार में मचा कोहराम DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजीपुर के महेश की शहादत से गांव स्तब्ध, परिवार में मचा कोहराम 

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में बुधवार को आतंकी हमले में गाजीपुर के जैतपुरा निवासी महेशचंद्र की शहादत से गांव स्तब्ध है तो वहीं परिवार में कोहराम मचा है। पूरी रात परिवार वाले जागते रहे। बीच बीच में रोने और चीखने की आवाजें आती रहीं। शहीद की पत्नी फफकते हुए बोली, हे भगवान मेरे पति को मेरे पास भेज दो।

महेश पांच माह पहले छुटटी पर आए थे और इसी माह आने का वादा करके ड्यूटी पर गए थे। परिवार की मानें तो उनकी छुट्टी पास हो चुकी थी। मोहल्ले और नाते रिश्तेदारों का भी जमघट महेश के घर पर लगा हुआ है। लोगों को अब अपने बेटे के पार्थिव शरीर का इंतजार है। गुरुवार देर रात या शुक्रवार सुबह तक महेश का पार्थिव शरीर आने की संभावना है। 

 सीआरपीएफ की 116वीं बटालियन में तैनात महेश कुशवाहा अनंतनाग में तैनात थे। आतंकवादियों से मुठभेड़ में महेश शहीद हो गए। बुधवार की देर रात महेश की शहादत की खबर मिलते ही जैतपुरा स्थित घर पर कोहराम मच गया। पत्नी का रो-रो कर बुरा हाल है। बेसुध हो जा रही मां को घर के लोग सांत्वना दे रहें हैं।

महेश के बीमार पिता पहले से ही अस्पताल में भर्ती है। उन्हें अबतक इसके बारे में बताया नहीं गया है। परिजनों को विश्वास ही नहीं हो रहा है कि कल सुबह जिसने फोन कर घर का हालचाल पूछा था आज वो इस दुनिया में नहीं है। हर कोई शोकाकुल परिवार को ढांढस बंधाने पहुंच रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mahesh of Ghazipur Martyr in Kashmir at Anantnag