DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इतिहास रचेगा इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक: मनोज सिन्हा

केंद्रीय संचार मंत्री स्वतंत्र प्रभार मनोज सिन्हा

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं को तेजी से पंख लग रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक प्रमुख योजना इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आइपीपीबी) एक सितंबर को लांच होगी।  यह देश का सबसे बड़ा बैंकिंग नेटवर्क होगा। आइपीपीबी बैंकों तथा वित्तीय संस्थानों के साथ मिलकर ग्राहकों को कर्ज देने के अलावा म्यूचुअल फंड तथा इंश्योरेंस पालिसियां बेचने का काम करेगा।

दो दिवसीय दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र गाजीपुर पहुंचे केंद्रीय संचार मंत्री स्वतंत्र प्रभार मनोज सिन्हा ने हिन्दुस्तान से विशेष बातचीत की।  उन्होंने सरकार की योजनाओं की जानकारी दी तो जल्द ही बड़े परिवर्तन का संकेत भी दिया। सरकार  की हर योजना को धरातल पर लाते हुए जनता को उसका लाभ पहुंचाने के संकल्प को भी दोहराया। 

गाजीपुर दौरे पर आए केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने बताया कि आइपीपीबी से देश के सभी 1.55 लाख डाकघरों को इस वर्ष के अंत तक इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से जोड़ दिया जाएगा। ग्रामीण इलाकों में तकरीबन 1.30 डाकघरों के जरिए आइपीपीबी की सेवाएं पहुंचेगी। फिलहाल रायपुर और रांची में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर आइपीपीबी की शाखाएं काम कर रही हैं।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि आईपीपीबी देश में अनूठा इतिहास रचेगी। वहीं निचले तबके तक को इसका लाभ मिलेगा। छोटे उद्योग और छोटे रोजगार क्षेत्र के लिए यह वरदान बनकर सामने आएगा।  यह बैंक आपको तीन तरह के सेविंग अकाउंट खोलने की सुविधा देगा। रेगुलर सेविंग अकाउंट, डिजिटल सेविंग अकाउंट और बेसिक सेविंग अकाउंट के रूप में होगी। एक समझौते के तहत जनता के दरवाजे पर जाकर ये सेवाएं दिए जाने की कवायद है।  

गाजीपुर-वाराणसी समेत 650 शाखाओं पर लांचिंग 
केद्रीय मंत्री ने बताया कि  'लांच वाले दिन गाजीपुर, वाराणसी समेत 650 जिला स्तरीय शाखाओं पर इसके संचालन की योजना है। वहीं उनसे जुड़े 3250 एक्सेस प्वाइंट के साथ आइपीपीबी की सेवाएं काम करने लगेंगी। यह कार्य चरणों में होगा। इससे जब कभी भी जमा रकम एक लाख रुपये को पार करेगी, उसे पोस्ट आफिस सेविंग बैंक खातों में हस्तांतरित किया जा सकेगा। शुरू में 11 हजार पोस्टमैन घर-घर जाकर लोगों को बैंकिंग सेवा प्रदान करेंगे। बाद में 3 लाख डाकघर कर्मियों को इस कार्य में लगाया जाएगा।

तीन तरह की व्यवस्थाओं पर आधारित होगी सेवा 

रेगुलर सेविंग अकाउंट
इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक का रेगुलर सेविंग अकाउंट (नियमित बचत खाता) बैंक के एक्सेस पॉइंट्स पर खोला जा सकता है। आईपीपीबी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर जानकारी दी है कि लोग इस खाते का इस्तेमाल धन सुरक्षित रखने, नकद निकालने, पैसे जमा करने और कई अन्य लाभों के अलावा आसान प्रेषण (रेमिटेंस) करने के लिए कर सकते हैं। इस खाते में जमा पैसों पर आपको ब्याज भी मिलेगा और इस खाते से अनगिनत बार निकासी की अनुमति है। इस सेविंग अकाउंट पर सालाना आधार पर 4 फीसद का ब्याज मिलेगा।

बेसिक सेविंग अकाउंट
आईपीपीबी का बेसिक सेविंग अकाउंट में रेगुलर सेविंग अकाउंट के सभी फीचर एवं लाभ उपलब्ध कराए जाएंगे। हालांकि इसमें महीने में सिर्फ 4 बार ही पैसों की निकासी की अनुमति होगी। बेसिक सेविंग अकाउंट का मकसद न्यूनतम शुल्क के साथ प्राथमिक बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध करवाना है। इस खाते में जमा पैसों पर भी 4 फीसद की सालाना दर से ब्याज दिया जाएगा।

डिजिटल सेविंग अकाउंट
इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के इस बैंक खाते का काफी महत्व है। ऐसे लोग जो टेक सेवी हैं और तकनीक के इस्तेमाल को लेकर काफी सहज हैं आईपीपीबी ने उनके लिए डिजिटल सेविंग अकाउंट का विकल्प रखा है, इसका इस्तेमाल आप आईपीपीबी की मोबाइल एप के जरिए आसानी से कर सकते हैं। एंड्रॉयड यूजर इस एप को प्ले स्टोर से आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। ऐसा कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 18 वर्ष के ऊपर है और उसके पास पैन कार्ड एवं आधार कार्ड है वो इस खाते को खोल सकता है। इस खाते को आप घर बैठे आराम से खोल सकते हैं। इस खाते में जमा रकम पर भी सालाना आधार पर 4 फीसद का ब्याज दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:India Post Payment Bank will make history