DA Image
23 सितम्बर, 2020|2:19|IST

अगली स्टोरी

आईजी ने समीक्षा में परखी थानेदारों की सक्रियता

आईजी ने समीक्षा में परखी थानेदारों की सक्रियता

वाराणसी रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विजय सिंह मीणा ने मंगलवार को गाजीपुर पहुंचकर पुलिस कार्यप्रणाली की समीक्षा की। थानावार अपराध समीक्षा में थानेदारों की सक्रियता परखी तो उनकी कार्यशैली भी जानी। थानाध्यक्षों को टॉप 10 अपराधियों को जेल भेजने और उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए। एसपी ओपी सिंह से कहा कि जिले के टॉप टेन अपराधियों की समीक्षा खुद करें और सभी सीओ हर थाने की प्रतिदिन रिपोर्ट अपडेट करें।

मंगलवार को आईजी रेंज विजय सिंह मीणा गाजीपुर पहुंचे। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में उन्हें गारद ने गार्ड आफ आनर दिया। इसके बाद रायफल क्लब सभागार में थानेदारों के साथ समीक्षा बैठक हुई। आईजी ने कहा कि आपराधिक मामलों में संलिप्त आरोपियों के खिलाफ शस्त्र लाइसेंस निलंबन की रिपोर्ट पुलिस अधीक्षक को भेजें। उन सभी अपराधियों का लाइसेंस निरस्त कराया जाएगा जो वारदातों में शामिल पाए जाएंगे। इसके साथ ही अवैध शराब और अवैध शस्त्रों के खिलाफ अभियान को सजगता से करने और वांछितों को पकड़ने पर प्राथमिकता रखे।अपराधियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।जिले में फरार चल रहे अपराधियों को जल्द गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए। इसमें किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती जाए। टॉप टेन अपराधियों पर पूरी नजर रखी जाए, उन्हें जल्द से जल्द पकड़ा जाए। गैंगस्टर, गुंडा एक्ट वालों पर पुलिस ठीक से काम करे। पकड़ में न आने पर अपराधियों की संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई तेज की जाए। सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दें कि वे अपने-अपने इलाके में कोई अपराध न होने दें। बीट सिस्टम को ठीक से लागू करने के लिए भी कहा। इस दौरान उन्होंने महिला सुरक्षा, चोरी, लूट, हत्या, अवैध शराब आदि की बारी-बारी से समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिया कि थानावार जो नए युवा अपराध में लिप्त हैं उनकी सूची बनाई जाए और लगातार मानीटरिंग की जाए। इस दौरान सीओ राजीव द्विवेदी, सीओ सदर ओजस्वी चावला, सीओ सैदपुर महिपाल पाठक, सीओ मुहम्मदाबाद विनय गौतम सीओ कासिमाबाद महमूद अली समेत सभी थानेदार और अधिकारी शामिल रहे।

त्योहारों पर 24 घंटे तैयार रहे पुलिस

गाजीपुर। आईजी विजय सिंह मीणा आगामी मोहर्रम, गणेश चतुर्दशी या विसर्जन, नवरात्रि व अन्य त्योहारों को पूरी सतर्कता के साथ संपन्न कराना है। कोरोना प्रोटाेकाल का उल्लंघन नहीं होना चाहिए और गाइडलाइन का अनुपालन प्राथमिकता है। इसके पूर्व सभी थानाध्यक्ष अपने-अपने क्षेत्रों में ऐसे लोगों को चिह्नित कर लें जो त्योहार में खलल डाल सकते हैं। त्योहार से पूर्व ऐसे लोगों पर कार्रवाई की जाए। एसपी ओपी सिंह से जिले में अपराधों पर अंकुश लगाने और लंबित मामलों के जल्द से निस्तारण की बात कही।