DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सैकड़ों एकड़ खेती बर्बाद होने की संभावना

गंगा नदी के  लगातार बढ़ते जलस्तर से  क्षेत्र के किसान काफी चिंतित नजर आ रहे हैं ।क्षेत्र  बाड़ सहिच करईल इलाके में इस समय टमाटर ,मिर्च, करेला एवं लौकी सहित कोहड़ी आदि सैकड़ों एकड़ खेत में बोई गई फसल पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगी।
बाढ़ की आशंका को देखते हुए किसानों के माथे पर बल पड़ गया है ।किसानों का कहना है कि टमाटर मिर्च की अति महंगे बीज खरीद कर नर्सरी तैयार कर इन फसलों की रोपाई हो चुकी है।ऐसे में यदि बाढ़ का पानी एक दो दिन भी रुक जाएगा तो पूरी फसल तबाह हो जाएगी।गंगा नदी से जुड़े भागड़ नालों के आसपास के गांवों धर्मपुरा ,शेरपुर,आमघाट ,रानीपुर, फखनपुरा,कुंन्डेसर ,सुरतापुर आदि निचले खेतों में बाढ़ का पानी भरने से अरहर एवं चारे की फसल डूबने लगी है। फिरोजपुर एवं धर्मपुरा गांव को जोड़ने वाली एक मात्र पुल के समानांतरण पानी हो गया है। यहां के ग्रामीणों का तहना है कि यदि और पानी बढ़ा तो आवागमन देर शाम तक ठप हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hundreds of acres of farming likely to be wasted