DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई चार्टर्ड प्लेन हादसे में गाजीपुर के होनहार इंजीनियर की मौत

file phoro

मुंबई के घाटकोपर के सर्वोदय नगर में गुरुवार को हुए विमान हादसे में गाजीपुर के होनहार इंजीनियर की जान भी चली गई। हादसा जिन पांच लोगों को निगल गया उनमें खैराबारी निवासी 28 वर्षीय मनीष पाण्डेय भी शामिल थे । बेटे की मौत के बाद गांव में कोहराम मचा है तो सूचना पाकर उनके पिता वाराणसी से विमान से मुंबई रवाना हो गए। 

भांवरकोल थाना क्षेत्र के खैराबारी निवासी मनीष पाण्डेय एयरक्राफ्ट टेक्नीशियन थे। उनके पिता एडवोकेट तेजप्रताप पाण्डेय मुहम्मदाबाद में रहते हैं और वहीं न्यायालय में वकालत करते हैं। हादसे के बाद गुरुवार देर रात परिजनों को इसकी जानकारी मिली। पिता ने बताया कि मनीष की शादी एक साल पहले पश्चिम बंगाल में हुई थी। शादी के बाद वह अपनी पत्नी संग मुंबई चला गया था। करीब छह माह पहले वह छुट्टी पर आया था। मनीष के दादा जनार्दन पांडेय ने बताया कि बहू ने मुंबई से फोनकर पिता को गुरुवार रात को इसकी सूचना दे दी थी, लेकिन परिवार के अन्य सदस्यों को व रिश्तेदारों को इसकी जानकारी श्ुाक्रवार सुबह दी गई। 

परिजनों का कहना है कहा कि कंपनी की बड़ी लापरवाही की वजह से ये घटना घटी है। जब प्लेन खराब था तो उड़ान की परमिशन क्यों दी गई। उन्होंने सरकार से मांग की है कि इस मामले की गंभीरता से जांच कराई जाए और दोषी को सजा दी जाए।   पिता एडवोकेट तेप्रताप पांडेय तथा उनके बड़े भाई अभिषेक पांडेय शुक्रवार की सुबह वाराणसी से विमान से मुंबई के लिए रवाना हो गए। 

उड़ान से थोड़ी देर पहले की थी  पत्नी से बात
एयरक्राफ्ट टेक्नीशियन मनीष सुबह ही जरूरी काम की बात कहकर ड्यूटी पर चला गया था। एयर-स्टेशन  पहुंचने के बाद उसने पत्नी से मोबाइल पर बातचीत भी की थी। बताया था कि अभी एक प्लेन की टेस्टिंग चल रही है। डीजीसीए के अधिकारियों के अनुसार यूवाई एविएशन प्राइवेट लिमिटेड का यह प्लेन किंग एयर सी-90 वीटी-यूपीजेड दोपहर सवा 12 बजे जुहू विमानतल से टेस्टिंग के लिए उड़ान भरा था। 

विमान सवार सभी चार लोगों की हुई थी मौत 
गुरुवार की दोपहर करीब सवा एक बजे चार्टर्ड प्लेन मुंबई के अति घनी आबादी वाले उपनगर घाटकोपर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। प्लेन में सवार सभी चार लोगों सहित एक राहगीर की भी मौत हो गई  जबकि तीन अन्य घायल हुए। विमान को को-पायलट मारिया ज़ुबेरी (48) उड़ा रही थीं। उनके साथ मुख्य पायलट कैप्टन पी.एस.राजपूत, फ्लाइट इंजीनियर सुरभि ब्रजेश कुमार गुप्त (34) एवं एयरक्राफ्ट टेक्नीशियन मनीष पांडेय भी प्लेन में सवार थे। 

स्थानीय लोगों ने की कार्रवाई की मांग 
गंभीर हादसा बताते हुए  ग्रामीणों और जिले के लोगों ने विमान कंपनी और अन्य दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है। नगरवासियों ने मुहम्मदाबाद क्षेत्र के रहने वाले होनहार एयरक्राफ्ट टेक्सनीशियन मनीष पांडेय के निधन पर शोक  जताया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ghazipurs engineer dies in Mumbai Chartered plane accident