DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजीपुर: डीपीओ से मिला महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ का प्रतिनिधिमंडल

गाजीपुर: डीपीओ से मिला महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ का प्रतिनिधिमंडल

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने मुख्य सचिव द्वारा बीती 31 मई को जारी किए गए शासनादेश को जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिखाया। शुक्रवार को महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ का एक प्रतिनिधिमंडल डीपीओ के कार्यालय में पहुंचा और उनको आदेश की छायाप्रति दी। आंगनबाड़ी संघ की जिलाध्यक्ष चन्द्रप्रभा सिंह ने डीपीओ आरती सिंह को बताया कि शासन के आदेश जारी करने के बाद भी जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री हम आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की ड्यूटी राशन कार्ड के सत्यापन में लगा रहे हैं। जबकि शासन का आदेश है कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से उनके विभाग के अलावा कोई दूसरा कार्य न कराया जाए। इसके लिए आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने नौ मई, 12 मई को पत्रक के माध्यम से अवगत कराया था। आरोप लगाया कि उनके संगठन के कुछ तथाकथित पदाधिकारियों ने हड़ताल वापस लेने की बात कहकर कार्यकत्रियों को हतोत्साहित करने का प्रयास किया। बताया कि इसी क्रम में संगठन के प्रदेश अध्यक्ष गिरीश पांडेय की मुख्य सचिव स्तर पर वार्ता हुई थी। जिसमें अपने जनपद में कार्यकत्रियों के हो रहे उत्पीड़न को अवगत कराया गया। जिस पर मुख्य सचिव ने 31 मई को शासनादेश जारी किया है कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से दूसरे विभाग का कार्य न लिया जाए। बताया कि फैक्स के माध्यम से जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी को शासनादेश भेजा गया है। कहा कि राशनकार्ड सत्यापन के दौरान कार्यकत्रियां गंवई राजनीति का शिकार होंगी। चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक हमारी मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा, तब तक महिला आंगनबाड़ी संघ की लड़ाई जारी रहेगी। डीपीओ से मिलने वालों में मंडल अध्यक्ष शीला तिवारी, महामंत्री माया सिंह, जिला संरक्षक अमरनाथ दूबे, एडवोकेट राजेश कुमार, सदर ब्लाक अध्यक्ष लाची देवी, तिलकु कुशवाहा, गुड्डू आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ghajipur: Delegation of women Anganwadi workers union from DPO