DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश गाजीपुरकोरोना के साये तले होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर आयोग सख्त

कोरोना के साये तले होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर आयोग सख्त

हिन्दुस्तान टीम,गाजीपुरNewswrap
Thu, 22 Apr 2021 10:31 PM
कोरोना के साये तले होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर आयोग सख्त

जमानियां। हिन्दुस्तान संवाद

पंचायत चुनाव में मास्क के साथ पहुंचने वाले मतदाता ही मतदान कर सकेंगे। क्योंकि चुनाव आयोग कोविड-19 संक्रमण को लेकर काफी सख्त है। वहीं इस महामारी के साए तले हो रहे पंचायत चुनाव में सभी से काफी सतर्कता बरतने को लेकर कई दिशा-निर्देश भी जारी किये हैं। पर एक तरफ जहां संक्रमण को लेकर आयोग अपनी सख्ती दिखा रहा है, तो दूसरी तरफ प्रत्याशियों में केवल चुनाव जीतने का भूत सवार है। कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइनों की खुलेआम धज्जियां उड़ायी जा रही है। इसका नजारा तब देखने को मिला, जहां काफी संख्या में प्रत्याशी व उनके समर्थक हैंड बिल, चुनाव चिन्ह व झंडा खरीदने के लिए पहुंचे थे। कोई भी सामाजिक दूरी का पालन करता नजर नहीं आया। जबकि इस महामारी को लेकर आयोग ने विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किया है।

आयोग की ओर से चुनाव कार्य में लगे कर्मचारियों के लिए कई दिशा-निर्देश दिये गये हैं, जिनमें पोलिंग पार्टियों को रवानगी से पहले प्रत्येक दशा में थर्मल स्क्रीनिंग कराया जाना अनिवार्य है। हरहाल में माक्स का प्रयोग प्रत्याशियों व मतदाताओं को करना जरूरी है। कोरोना का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है। इस बाबत खण्ड विकास अधिकारी हरि नारायण ने बताया कि विकास खण्ड स्तर पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या उनके नामित डॉक्टर नोडल अधिकार बनाए गए हैं, जो मौके पर कोविड-19 से बचाव के लिये जरूरी उपाय सुनिश्चित करेंगे। पोलिंग पार्टियों की रवानगी के समय थर्मल स्क्रीनिंग से जांच की जाय। कोतवाली प्रभारी रविन्द्र भूषण मौर्य ने बताया कि प्रतिदिन पंचायत क्षेत्रों के प्रत्याशियों व ग्रामीणों संग बैठक कर चुनाव आयोग दिशा-निर्देश व गाइड लाइन जारी कर रहा है, जिसके मुताबिक लोगों को जागरूक किया जा रहा है। बावजूद इसके पंचायत चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराने को लेकर सतर्कता भी बढ़ा दी गयी है। उन्होंने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार की कोविड नियमावली का पालन करना बहुत जरूरी है। जो लोग इसका पालन नहीं करेंगे, उसके खिलाफ आईपीसी की धारा-188 के तहत कार्रवाई होगी। इसी तरह मतदान के दिन भी मतदान केंद्र पर पोलिंग पार्टी के सदस्य, पोलिंग एजेंट के बैठने की व्यवस्था, सामाजिक दूरी को देखते हुए की जाएगी। मतदान केंद्र पर प्रवेश करने वाले व्यक्ति को मास्क लगाना अनिवार्य होगा। मतदाता की पहचान पर संदेह होने पर ही उनके मास्क हटाये जा सकते हैं। प्रत्येक मतदाता को सेनेटाइज करने के बाद ही बूथ में प्रवेश करने दिया जाएगा। मतदान केंद्रों पर सभी की थर्मल स्क्रीनिंग करायी जायेगी।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें