DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  गाजीपुर  ›  जिले में 97 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले
गाजीपुर

जिले में 97 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले

हिन्दुस्तान टीम,गाजीपुरPublished By: Newswrap
Sat, 15 Aug 2020 03:06 AM
जिले में 97 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले

शहर से लेकर देहात तक जांच में अब सामुदायिक संक्रमण से बड़ी संख्या में रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आ रही है। गाजीपुर में कोरोना के संक्रमित मरीजों की बढोत्तरी ने प्रशासन और स्वास्थय विभाग की दुश्वारियां बढ़ा दी हैं। शुक्रवार को देर रात तक 97 मरीज कोरोना पाजिटिव आए तो तीन सैकड़ा भर से अधिक मरीजों की रिपोर्ट का इंतजार है। जिले में आज तक 45 हजार से अधिक संदिग्ध मरीजों के सैंपल लेने का दावा किया गया है इसमें से की जांच कराई जा चुकी है। जिसमें 1965 मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित मिले, वहीं 41 हजार 410 मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई। जबकि एक हजार से अधिक संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट नहीं आई है। संक्रमित केसों की संख्या अब 2000 के पार चली गई है। मरीजों में इलाज के बाद 886 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके है, वहीं 1240 से अधिक मरीजों का इलाज चिकित्सकों की निगरानी में चल रहा है। वहीं 14 संक्रमित मरीज जान भी गवा चुके है। शुक्रवार को जांच टीमों ने गाजीपुर जिला अस्पताल से लेकर देहात के सीएचसी और पीएचसी तक 1302 सैंपल भरे गए। इसमें 260 आरटीपीटीआर, 51 ट्रूनॉट और 991 एंटीजेन किट से लिए गए। शहर से जमानियां, रेवतीपुर, भदौरा, गहमर, सेवराई, सैदपुर, मुहम्मदाबाद, मनिहारी, देवकली, बिरनो, करंडा में सैंपल भरे। कासिमाबाद, बाराचंवर, मरदह में एंटीजेन किट से जांच हुई। सैदपुर में 97, देवकली में 106, मनिहारी में 60, जखनियां में 93, सुभाकरपुर में 56, जमानिया में 56, भदौरा में 23, रेवतीपुर में 40, करंडा में 48, कासिमाबाद में 24 सैपल लिए गए। संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने से दर्जनों लोग संक्रमण के शिकार हो गए। 97 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिलते ही इन सभी मरीजों को इलाज के लिए होम आइसोलेशन और कुछ लोगाें को कोविड-19 एल वन हास्पिटल का विकल्प दिया गया है। हालांकि इनके संपर्क में आने वालों संदिग्धों को चिन्हित कर सैंपल की जांच कराई जाएगी। डिप्टी सीएमओ डा. उमेश कुमार ने बताया कि सभी मरीजों को इलाज के लिए कोविड लेवल -1 अस्पताल सहेड़ी में अाज आठ मरीजों को भर्ती कराया गया है। सर्वे टीम संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले संदिग्धों को चिन्हित करने में जुटी है।

इन इलाकों में मिले कोरोना पाजटिव::

गाजीपुर। कोरोना जांच रिपोट के अनुसार मुहम्मदाबाद में 200 सैंपल भरे गए जिसमें 20 मरीज कोरोना पाजिटिव पाए गए।भांवरकोल के गोडउर में सौ लोगों की सैंपलिग के बावजूद कोई पाजिटिव नहीं मिला। रेवतीपुर और देवकली में छह-छह लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव मिली है। जिला अस्पताल में सैंपल भरे गए जो निगेटिव थे।वहीं जिले में 97 मरीज आज की जांच में संक्रमित मिले। इनमें से एक मरीज सुहवल थाने पर तैनात सिपाही, मोहम्मदाबाद के सहनिंदा मुहल्ला निवासी 8 और कुल 22 पाजिटिव मिले। सदर क्षेत्र में9, भदौरा ब्लाक में पांच, देवकली में 13, करंडा में पांच, कासिमाबाद में दो, मनिहारी में एक, मरदह में एक संक्रमित मिला। रेवतीपुर में सात, सादात में चार, सैदपुर में 16, बाराचंवर चार, जमानियां चार, जपुन्ना एक, गठौली में एक संक्रमित मिले।

जांच टीम की महिला सीएचओ पॉजिटिव आने से मचा हड़कंप

नंदगंज। नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर शुक्रवार को कोविड-19 की हुई रैपिड एंटीजन जांच के दौरान कुल 106 लोगों में मात्र छह लोग पॉजिटिव मिले। वही देवकली सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर जांच करने वाली एक महिला सीएचओ की शुक्रवार को नंदगंज में जांच के दौरान कोरोना पॉजिटिव आ गयी। इससे खलबली मच गयी। शुक्रवार को एंटीजन किट से सिर्फ 106 लोगों की जांच की गई। इसमें से छह लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। सरौली गांव के 3, नंदगंज बाजार का 1, देवकली का 1, श्रीगंज का 1 व्यक्ति संक्रमित पाया गया है।

जांच कराने आये लोगों को लौटाया

सैदपुर। नगर के टाउन नेशनल इंटर कालेज में कोरोना टेस्ट का कैम्प लगाया गया। जहां रोजाना टेस्ट हो रहा है। शुक्रवार को भी कोरोना टेस्ट करने के लिए लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। अन्य विभाग के कर्मचारी भी पहुंच गये। पर ठीक समय पर कोरोना टेस्ट करने आये मेडिकल के कर्मचारियों ने यह बताकर लोगों को वापस कर दिया कि टेस्ट किट समाप्त हो गयी है। अब किट आने पर ही टेस्ट किया जाएगा। सीएचसी से डा. दीपक पांडेय ने बताया कि किट समाप्त हो गई है। किट आ जाये, तो फिर से टेस्ट शुरू किया जायेगा।

डीएम ने नगर सहित 32 एरिया को बनाया हॉटस्पाट

गाजीपुर। पॉजिटिव पाएं गए मरीजों के गांवों व वार्डो को जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य की ओर से हॉट स्पाट कन्टेन्मेन्ट एरिया घोषित कर दिया गया है। इन वार्डो व गांवों में अब अगले आदेश तक किसी भी प्रकार की गतिविधि पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध लगा दिया गया है। कोरोना पॉजिटिव पाए गए गांवों में थाना सुहवल, पाल्हनपुर सायर, वार्ड नंबर-4 दिललारनगर, वार्ड नंबर-3 मालवीय नगर, चांडीपुर, सरौली, अतरसुआ, मतसा, रामपुर उर्फ सलेमपुर, बजरंग कालोनी वार्ड नंबर-22 रेलवे स्टेशन, देवा, वार्ड नंबर-21 युसुफपुर बाजार, गोंड़ी, वार्ड नंबर -9 दर्जी मुहल्ला, वार्ड नंबर-16 युसुफपुर धर्मशाला गली, युसुफपुर रेलवे स्टेशन, बालापुर, शेरपुर कला, सलारपुर, त्रिलोकपुर, रेवतीपुर, नगसर, इन्दौर, वार्ड नंबर-4 रौजाद्वार, लूडीपुर, देवापार कलवारी, न्यू मार्केट मिश्रबाजार, नवापुरा कचहरी रोड, बड़ीबाग में आने जाने पर रोक लगा दी गई है। इन सभी वार्डो व गांवों में भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा दी गई एडवाइजरी एवं अघतन दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। उक्त क्षेत्र में अवस्थित दुकानों, वाणिज्यिक प्रतिष्ठान नहीं खुलेंगे। आम नागरिक का आना-जाना हो को पूर्णरूपेण प्रतिबंधित किया जाता है। शहरी क्षेत्र में सिंगल केस पाए जाने पर 100 मीटर की परिधि या पूरा मुहल्ला जो कम हो उसे हॉट स्पाट कन्टेन्मेन्ट एरिया घोषित किया जाएगा। एक से ज्यादा केस होने पर कन्टेनमेन्ट जोन का दायरा 200 मीटर की परिधि का होगा। इसके उपरान्त स्थानीय स्तर पर परिस्थितियों के अनुसार बफर जोन का निर्धारित किया जाएगा।

हॉट स्पाट से बाहर किए गांवों में गाइड लाइन का होगा पालन

गाजीपुर। जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य के निर्देशन में कोविड-19 कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी से प्रभावित संक्रमित ग्रामों में 30 व 31 जुलाई को लिये गये स्वैब टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए मरीजों के आधार पर इन गांवों को हॉट स्पाट एवं कन्टोमेन्ट एरिया घोषित कर दिया गया था। मुख्य चिकित्साधिकारी जीसी मौर्या की आख्या रिपोर्ट के आधार पर 14 दिनों में इस एरिया में दूसरा संक्रमित मरीज नहीं पाया गया है। इस आधार पर जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य ने शुक्रवार को इन एरिया को हॉट स्पॉट से बाहर कर दिया है। इस एरिया में गृह मंत्रालय, भारत सरकार तथा उत्तर प्रदेश शासन द्वारा निर्धारित इडवाइजरी एवं गाइडलाइन का पालन पूर्ण रुप से कराया जाएगा। हॉट स्पाट से बाहर किए गए गांवों व वार्डो में शेरपुर खुर्द, थाना भुड़कुड़ा, कबीरपुर, बसुका, लारपुर, भीमपुर जलालपुर धनी, थाना खानपुर, धरवां जेवल, सिसौड़ा, सुआपुर, रघुनाथपुर, फाक्सगंज को शामिल किया गया है। इन क्षेत्रों में साफ-सफाई एवं सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन संबंधित अधिकारियों द्वारा कराया जाएगा। कोरोना पॉजिटिव से निगेटिव केस के व्यक्ति से संबंधित उपजिलाधिकारी, तहसीलदार द्वारा एक सप्ताह होम क्वरंटाइन रहने के संबंध में शपथ पत्र प्राप्त किया जाएगा।

संबंधित खबरें