DA Image
9 मार्च, 2021|2:57|IST

अगली स्टोरी

पराक्रम दिवस के रूप में मनायी गयी सुभाषचंद्र बोस की 125वीं जयंती

पराक्रम दिवस के रूप में मनायी गयी सुभाषचंद्र बोस की 125वीं जयंती

गाजीपु़र। निज सवांददाता

नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 125वीं जयंती पराक्रम दिवस के रूप में मनायी गयी। जगह-जगह स्कूलों व विभिन्न सामाजिक संगठनों के कार्यालयों पर कार्यक्रम आयोजित कर उनके जीवन पर प्रकाश डाला गया। कहा गया कि नेताजी का जीवनी और कठोर त्याग आज के युवाओं के लिए बेहद ही प्रेरणादायक है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस एक उग्र राष्ट्रवादी नेता थे। उन्हें भारतीय इतिहास के सबसे महान स्वतंत्रता सेनानियों में से एक मना गया है। एक क्रांतिकारी नेता के रूप में उन्हें जाना जाता है। उन्होंने किसी भी कीमत पर अंग्रेजों से किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं किया। उनका एक मात्र लक्ष्य था देश को आजाद कराना। अतिथियों ने युवाओं से उनके बताये रास्ते पर चलने का आह्वान किया। शहर के रोडवेज मार्ग-टैक्सी स्टैंड स्थित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया।

सादात में सुभाष विद्या मंदिर इण्टर कालेज व महाविद्यालय बहरियाबाद प्रांगण में शनिवार को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 125वीं जयंती पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि भाजपा नेता संदीप सिंह 'सोनू' ने हाईस्कूल व इंटर के साथ ही विज्ञान प्रदर्शनी में अपनी मेधा का प्रदर्शन करने वाले विद्यालय के छात्र-छात्राओं को मेडल देकर सम्मानित किया।

उन्होंने कहा आजाद हिंद फौज की स्थापना करने वाले नेताजी के सम्पूर्ण जीवन का एक-एक क्षण व शरीर का एक-एक कण देश के लिए समर्पित रहा। कहा कि अफसोस इस बात की है कि जो सम्मान उन्हें मिलना चाहिए था, वह उन्हें नहीं मिल सका। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि ने मां सरस्वती व नेताजी के साथ ही कालेज के संस्थापक स्व. ब्रजनाथ सहाय की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया। छात्र-छात्राओं ने सरस्वती वंदना व स्वागत गीत पेश किया। कार्यक्रम को इंटर कालेज के प्रबंधक अजय सहाय, भाजपा अनुसूचित जाति एवं जनजाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष श्याम नारायण, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला महामंत्री दानिशवरा, शिवबचन पाण्डेय आदि ने संबोधित किया। इस मौके पर महाविद्यालय के प्रबंधक आशीष सहाय, डा. चंद्रभान सिंह, आलोक सिंह, मुनिराज चौहान, विनोद कुमार श्रीवास्तव, रामप्रकाश, दीपक श्रीवास्तव, ओमप्रकाश मिश्रा, रामपलट यादव, रामप्यारे प्रजापति, हैदर अब्बास, खूबचंद यादव, आद्या प्रसाद, सदानंद यादव, गुलाब गुप्ता आदि रहे। संचालन नेसार अहमद फ़ैज ने किया। अंत में प्रधानाचार्य डा. चंद्रभान सिंह ने आभार प्रकट किया।

-

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:125th birth anniversary of Subhash Chandra Bose celebrated as Parakram Divas